योगीराज ने चेताया- 'अगर कांग्रेस ने टिकट नहीं दिया तो परिणाम भुगतना पड़ेगा'

ETV Haryana/HP
Updated: September 16, 2017, 1:08 PM IST
योगीराज ने चेताया- 'अगर कांग्रेस ने टिकट नहीं दिया तो परिणाम भुगतना पड़ेगा'
​योगराज कांग्रेस पार्टी से पांच वर्षों से निष्कासित चल रहे हैं
ETV Haryana/HP
Updated: September 16, 2017, 1:08 PM IST
हिमाचल प्रदेश में कांगड़ा के देहरा विधानसभा क्षेत्र में चुनावों का मौसम जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है सियासी हलचलें भी तेज हो रही हैं. इसी बीच लगभग 5 साल से कांग्रेस पार्टी से निष्काषित चल रहे पूर्व विधायक योगराज ने चुनावी ताल ठोक दी है. योगराज के इस पहल से जसवां परागपुर व देहरा हल्के के कांग्रेसियों के हलख सूख गए हैं.

योगराज ने यह ऐलान कर दिया कि विकल्प दोनों तरफ खुले हैं. उन्होंने कहा कि जसवां परागपुर उनकी

कर्मभूमि रही है. देहरा से भी पिछले चुनावों में अपने अच्छे परिणाम की बात कर रहे हैं. उन्होंने दो टूक शब्दों में कांग्रेस को चेतावनी दे डाली और कहा कि अगर पार्टी में वापिस नहीं लिया गया तो परिणाम उनके सामने रहेगा.

उन्होंने बातों ह बातों में सुक्खू पर निशाना साधते हुए कहा कि सीएम बनने से पहले विधायक बनना जरुरी होता है. योगराज ने यह भी स्वीकार किया कि हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस में मतभेद बरकरार है.

योगराज का कहना है कि कांग्रेस अगर उन्हें लड़ने का मौका नहीं देगी तो वह निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे. देहरा व परागपुर कहीं से भी चुनाव लड़ सकते है व कांग्रेस पार्टी को इसका खामियाजा भुगतने में देरी नहीं लगेगी.

गौरतलब है कि योगराज 4 बार विधायक रहे. वे परागपुर आरक्षित विधानसभा सीट से पहली बार 1977 में जनता पार्टी से चुने गए. दूसरी बार 1984 में कांग्रेस पार्टी से विधायक रहे. 1985 में फिर तीसरी बार कांग्रेस से विधायक रहे.

लंबे अंतराल के बाद 2007 में कांग्रेस पार्टी से विधायक रहे. 2012 में परिसीमन के बाद देहरा विधानसभा से निर्दलीय चुनाव लड़े, जिसमें योगराज के साथ साथ कांग्रेस पार्टी को भी हार का सामना करना पड़ा था.

(राहुल कपूर की रिपोर्ट)
First published: September 16, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर