होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /

विकास कार्यों में किसी की मोहताज नहीं है यह ग्राम पंचायत, यहां धन की भरपाई करती है पीरों की सरकार,जानें कैसे?

विकास कार्यों में किसी की मोहताज नहीं है यह ग्राम पंचायत, यहां धन की भरपाई करती है पीरों की सरकार,जानें कैसे?

जिला मुख्यालय के नजदीकी ग्राम पंचायत बसोली के तहत आने वाला उत्तर भारत का प्रसिद्ध धार्मिक स्थल पीर निगाह मंदिर के चढ़ावे से इस पंचायत में विकास कार्य होता है.

जिला मुख्यालय के नजदीकी ग्राम पंचायत बसोली के तहत आने वाला उत्तर भारत का प्रसिद्ध धार्मिक स्थल पीर निगाह मंदिर के चढ़ावे से इस पंचायत में विकास कार्य होता है.

Village Special Story in Himachal: ऊना की एक ग्राम पंचायत ऐसी है जिस पर सरकार के साथ-साथ पीरों की सरकार भी पूरी तरह से मेहरबान है. जिला मुख्यालय के नजदीकी ग्राम पंचायत बसोली के तहत आने वाला उत्तर भारत का प्रसिद्ध धार्मिक स्थल पीर निगाह मंदिर के चढ़ावे से इस पंचायत में विकास कार्य होता है. यहां बच्चों, बुजुर्गों और महिलाओं के लिए आर्थिक सहायता से लेकर कई तरह के इंतजाम किए गए हैं.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

मंदिर कमेटी ग्रामीण विकास और महिलाओं को कर रही है आर्थिक मदद
युवाओं को नशा मुक्ति, बच्चों को जिम और बुजुर्गों के लिए पार्क की स्थापना

ऊना. आम तौर पर ग्रामीण क्षेत्रों के विकास की जब बात आती है तो नजर सरकार पर जाती है. सरकार से बजट मिलेगा तो विकास कार्य को पूरा किया जाएगा, लेकिन जिला ऊना की एक ग्राम पंचायत ऐसी है जिस पर सरकार के साथ-साथ पीरों की सरकार भी पूरी तरह से मेहरबान है. जिला मुख्यालय के नजदीकी ग्राम पंचायत बसोली के तहत आने वाला उत्तर भारत का प्रसिद्ध धार्मिक स्थल पीर निगाह मंदिर इस पंचायत के विकास को एक छोर से मजबूती के साथ थामे हुए है. सरकार से मिलने वाली ग्रांट को एक साइड कर दें तो इस मंदिर का चढ़ावा भी ग्राम पंचायत बसोली के विकास को आगे बढ़ाने में पूरी तरह सक्षम है. यहां सामूहिक विकास ही नहीं अपितु गांव के बेसहारा, बुजुर्गों और बच्चियों की मदद के लिए भी मंदिर कमेटी के सहयोग से आर्थिक मदद उपलब्ध करवाई जा रही है.

ग्राम पंचायत बसोली में जहां एक तरफ सरकार विकास के लिए अथाह धन उपलब्ध करा रही है, वहीं दूसरी तरफ पीरों की सरकार कहे जाने वाले उत्तर भारत के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल पीर निगाह का भी इस पंचायत के विकास और स्थानीय ग्रामीणों की मदद में अहम योगदान मिल रहा है. ग्राम पंचायत के उप प्रधान बलदेव कुमार का कहना है कि ग्राम पंचायत क्षेत्र में सड़क पानी बिजली और स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत करने के साथ-साथ ग्रामीणों के व्यक्तिगत विकास के लिए भी पंचायत द्वारा जिम्मा संभाला गया है.

युवाओं को नशा मुक्ति, बच्चों को जिम और बुजुर्गों के लिए पार्क की स्थापना
उनका कहना है कि ग्राम पंचायत का प्रयास केवल मात्र लोगों को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाना नहीं है अपितु उन्हें आधुनिक समय में हर वह सुविधा उपलब्ध कराना है जो किसी भी पंचायत को आदर्श पंचायत के रूप में स्थापित करती हो. मूलभूत सुविधाओं के बाद अब ग्रामीण क्षेत्र के किसानों की भूमि को आवारा पशुओं से सुरक्षित करने के लिए जाल लगाया जा रहा है, जबकि युवाओं को नशे से दूर रखने के लिए जिम स्थापित की गई है. बच्चों और बुजुर्गों के लिए पार्क का भी निर्माण किया जा रहा है. ग्राम पंचायत उत्तर भारत के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल पीर निगाह का भी संचालन करती है.

मंदिर कमेटी ग्रामीण विकास और महिलाओं को कर रही है आर्थिक मदद
वहीं दूसरी तरफ प्रसिद्ध धार्मिक स्थल पीर निगाह के मंदिर कमेटी सदस्य एवं पूर्व उपप्रधान सतनाम सिंह का कहना है कि ग्राम पंचायत के साथ-साथ मंदिर कमेटी भी ग्रामीण विकास को हर संभव मदद प्रदान कर रही है. जिसके तहत ग्राम पंचायत की करीब 155 वृद्ध और बेसहारा महिलाओं को 2 हज़ार रुपये प्रति माह आर्थिक मदद प्रदान की जा रही है. इतना ही नहीं बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत ग्राम पंचायत की 31 बालिकाओं को 31-31 हजार रुपये की आर्थिक मदद एफडी के रूप में भी प्रदान की गई है. वहीं मंदिर के विकास में भी कमेटी और पंचायत का अहम योगदान है. श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मंदिर क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि से संवारा जा रहा है.

Tags: Himachal pradesh news, Una News, Village

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर