हमीरपुर: लकड़ी काट रहे 3 लोगों पर रंगड़ों का हमला, 10 साल के मासूम की मौत

रंगड़ों का हमला. (सांकेतिक तस्वीर)
रंगड़ों का हमला. (सांकेतिक तस्वीर)

ग्रीन वैली वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला जाहू में पांचवी कक्षा में पढऩे वाले मनीष की आकस्मिक मौत पर 2 दिन का अवकाश रखा गया है. इस दौरान गांव और इलाके में शोक की लहर है.

  • Share this:
हमीरपुर. हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर (Hamirpur) जिले में भोरंज उपमंडल की भलवानी पंचायत के टिहरी गांव में लकड़ियां काटने गए 3 लोगों पर रंगड़ों ने हमला कर दिया,, जिससे 5वीं कक्षा में पढ़ने वाले 10 वर्षीय बच्चे (Child) की मौत हो गई है, जबकि 2 अन्य घायल (Injured) हुए हैं.

जानकारी के अनुसार, रविवार दोपहर बाद मनीष, उसके पिता पृथी चंद कालिया व गांव के ही जगदीश चौहान के साथ खेतों में पेड़ों की छंटाई कर रहे थे. इस दौरान रंगड़ों ने इन पर हमला कर दिया. मनीष के सिर और मुंह पर रंगड़ों ने काटा.

उसके पिता पृथी चंद और जगदीश चौहान को भी बुरी तरह से घायल हो गए थे. तीनों को सिविल अस्पताल भोरंज लाया गया, जहां से मनीष व जगदीश चौहान को मेडिकल कॉलेज हमीरपुर रैफर किया गया. बाद में मनीष ने दम तोड़ दिया, जबकि ग्रामीण जगदीश चौहान हमीरपुर अस्पताल में उपचाराधीन हैं. परिजनों ने मनीष का अंतिम संस्कार सुनैहल खड्ड के किनारे बने शमशानघाट में कर दिया।



इकलौता बेटा खोया
बालक मनीष अपने माता-पिता का इकलौता बेटा था. मनीष की एक बड़ी बहन भी है. परिवार में सबसे छोटा होने के कारण वह सबकी आंख का तारा था. ग्रीन वैली वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला जाहू में पांचवी कक्षा में पढऩे वाले मनीष की आकस्मिक मौत पर 2 दिन का अवकाश रखा गया है. इस दौरान गांव और इलाके में शोक की लहर है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज