लाइव टीवी

कांग्रेस MLA ने सरकार पर अभ्यर्थियों के भविष्य से खिलवाड़ा का लगाया आरोप, कहा-मामले को विधानसभा में उठाएंगे
Hamirpur News in Hindi

Jasbir Kumar | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 5, 2019, 5:02 PM IST
कांग्रेस MLA ने सरकार पर अभ्यर्थियों के भविष्य से खिलवाड़ा का लगाया आरोप, कहा-मामले को विधानसभा में उठाएंगे
कांग्रेस विधायक ने अभ्यर्थियों के मामले को विधानसभा के शीतकालीन सत्र में उठाने का आश्वासन दिया.

अनशन (Hunger Strike) पर बैठे हुए अभ्यर्थियों से कांग्रेस के सुजानपुर विधायक (Congress MLA) राजेंद्र राणा (Rajender Rana) ने हालचाल पूछा. उन्होंने अभ्यर्थियों को आश्वासन दिया कि वह विधानसभा के शीतकालीन सत्र (Winter Session of Assembly) में उनके मामले को प्रमुखता से सरकार के समक्ष रख कर हल करवाएंगे.

  • Share this:
हमीरपुर. हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग (Himachal Pradesh Staff Selection Commission) कार्यालय के बाहर पिछले सात दिनों से जूनियर आफिसर असिस्टेंट पोस्ट कोड 556 (Junior Officer Assistant Post) के दर्जनों अभ्यर्थी अनशन पर बैठे हैं. पिछले 7 दिनों में सरकार और विभाग के नुमाइदों ने इनकी सुध नहीं ली है. ऐसे समय में अनशन पर बैठे हुए अभ्यर्थियों से कांग्रेस के सुजानपुर विधायक (Congress MLA) राजेंद्र राणा (Rajender Rana) ने हालचाल पूछा. उन्होंने अभ्यर्थियों को आश्वासन दिया कि वह विधानसभा के शीतकालीन सत्र में उनके मामले को प्रमुखता से सरकार के समक्ष रखेंगे और हल करवाएंगे.

अभ्यर्थियों ने मान्यता प्राप्त कंप्यूटर संस्थान से डिप्लोमा नहीं किया

दरअसल, पोस्ट कोड 556 जूयिनर आफिसर असिस्टेंट के करीब 2400 अभ्यर्थियों के पास निजी संस्थान से कंप्यूटर डिप्लोमा होने के कारण उन्हें अयोग्य करार दिया गया है. बता दें कि जूनियर आफिसर के पदों के लिए वर्ष 2016 में अक्तूबर माह में भर्ती प्रक्रिया शुरू हुई थी और करीब 1156 पदों की भर्ती के लिए चयन आयोग हमीरपुर ने आवेदन मांगे थे. करीब 3460 अभ्यर्थियों को दस्तावेज परीक्षण के लिए बुलाया गया था, जिसमें से 2300 अभ्यर्थियों को यह कह कर नौकरी से वंचित कर दिया गया कि वे आरएंडपी रूल्स को पूरा नहीं करते हैं और इन अभ्यर्थियों के पास मान्यता प्राप्त कंप्यूटर संस्थान से डिप्लोमा नहीं है.

अभ्यर्थियों ने कहा- मुख्यमंत्री से लगाएंगे न्याय की गुहार

इस मामले में एक अहम बात है कि परीक्षा में आवेदन के समय चयन आयोग ने कहीं भी आरएंडपी रूल्स का जिक्र तक नहीं करके डिप्लोमा के बारे में कहा था. अब अनशन पर बैठे हुए अभ्यर्थी चयन आयोग से वन टाइम रिलैक्शेशन की मांग करते हुए संघर्ष कर रहे हैं. अभ्यर्थियों ने कहा कि कल मुख्यमंत्री के हमीरपुर दौरे के दौरान उनसे मुलाकात करके न्याय की गुहार लगाई जाएगी.

कांग्रेस विधायक ने कहा - सोई हुई सरकार को जगाएंगे

कांग्रेस विधायक राजेन्द्र राणा ने कर्मचारी चयन आयोग के कार्यालय के बाहर अनशन पर बैठे हुए अभ्यर्थियों के साथ हो रहे अन्याय पर रोष प्रकट किया. राजेन्द्र राणा ने कहा कि प्रदेश सरकार की बेपरवाह अफसरशाही के चलते अभ्यर्थियों के भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है. राणा ने कहा कि विधानसभा में इस मामले को प्रमुखता से उठाया जाएगा और सोई हुई सरकार को जगाया जाएगा. उन्होंने सरकार पर आरोप लगाया कि पिछले सात दिनों से न्याय के लिए गुहार लगाई जा रही है, फिर भी सरकार पर असर नहीं हो रहा है.

कांग्रेस MLA राजेन्द्र राणा ने कर्मचारी चयन आयोग के कार्यालय के बाहर अनशन पर बैठे हुए अभ्यर्थियों के साथ हो रहे अन्याय पर रोष प्रकट किया.'सरकार ने हमीरपुर को विकास के नक्शे से बाहर किया'

वहीं MLA राजेन्द्र राणा ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Jairam Thakur) के हमीरपुर (Hamirpur) दौरे पर चुटकी ली और कहा कि बीजेपी (BJP) के लोग केवल बयानबाजी करने तक ही सीमित हैं, क्योंकि तकनीकी विश्वविद्यालय परिसर का शिलान्यास कांग्रेस समय में हुआ था और बजट का प्रावधान भी
पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के समय में हुआ था. उन्होंने कहा कि प्रदेश के अंदर सड़कों का हाल बुरा है और सरकार ने हमीरपुर को विकास के नक्शे से बाहर कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें - केलांग : भारी बर्फबारी के चलते बंद है रोहतांग दर्रा, शुरू हुई हेलिकॉप्टर सेवा

ये भी पढ़ें - धोखाधड़ी रोकने के लिए कृषि उपज विपणन विधेयक, शीतकालीन सत्र में नहीं होगा पास

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए हमीरपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 5, 2019, 5:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर