BJP के 'लेटर बम' को लेकर कांग्रेस ले रही है चटखारे, कहा- बीजेपी में अंदरूनी अंसतोष चरम पर
Hamirpur News in Hindi

BJP के 'लेटर बम' को लेकर कांग्रेस ले रही है चटखारे, कहा- बीजेपी में अंदरूनी अंसतोष चरम पर
कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता प्रेम कौशल ने कहा, 'BJP के नेता ही सरकार के मंत्रियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे हैं'

कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता प्रेम कौशल ने कहा, 'BJP के वरिष्ठ नेता ही सरकार के मंत्रियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे हैं.'

  • Share this:
हमीरपुर. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में बीजेपी (BJP) के 'लेटर बम' को लेकर राजनीतिक गलियारों में चर्चा गर्म है. खासतौर पर कांग्रेस (Congress) इस मामले को लेकर चटखारे लेती हुई दिखाई दे रही है. प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता प्रेम कौशल (State Congress Spokesperson Prem Kaushal) ने कहा है कि इस लेटर के आने से सरकार और बीजेपी का अंदरूनी असंतोष बाहर आ गया है.

सोशल मीडिया पर वायरल 'लेटर बम'  

दरअसल, हिमाचल प्रदेश के एक बीजेपी कार्यकर्ता मनोज मंसद का एक मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस मैसेज में बीजेपी कार्यकर्ता ने अपने ही पार्टी के वरिष्ठ नेता शांता कुमार को लेकर सवाल उठाए हैं. पत्र का मजमून कुछ इस तरह था- “अमूमन भ्रष्टाचार और अन्याय के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करने वाले शांता कुमार हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्रालय में पनप रहे भ्रष्टाचार को देखकर चुपचाप क्यों बैठे हैं? क्या इसलिए कि ये मंत्रालय उनके शिष्य के पास है.”



BJP के  नेता ही सरकार के मंत्रियों पर लगा रहे भ्रष्टाचार के आरोप



इस प्रकार के पत्र को लेकर हडकंप मचना स्वाभाविक ही था. कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता प्रेम कौशल ने कहा कि बीजेपी के वरिष्ठ नेता ही सरकार के मंत्रियों के ऊपर भ्रष्टाचार का आरोप लगा रहे हैं. इतना ही नहीं सरकारी तंत्र आरोपियों और आरोपों की जांच करने के बजाए आरोप लगाने वालों के खिलाफ कार्रवाई कर रहा है. इससे स्पष्ट होता है कि एक तो सरकार में भ्रष्टाचार व्याप्त है, जिससे बीजेपी के अंदर सुलग रही विद्रोह और असंतोष की चिंगारी अब पूरी तरह से भड़क चुकी है.

धूमल की सक्रियता से सीएम जयराम ठाकुर की राहें आसान नहीं

केंद्र सरकार में अनुराग ठाकुर की मंत्री के रूप में ताजपोशी के बाद प्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल की सक्रियता से भी यह एहसास होता है कि अब मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की राहें कठिन होती जा रही हैं. जय राम ठाकुर करीब 2 वर्ष का कार्यकाल पूरा करने के बावजूद अफसरशाही को नियंत्रित कर एक कुशल और सुदृढ़ प्रशासक (Strong administrator) के रूप में खुद को स्थापित नहीं कर पाए हैं. साथ ही अब वर्तमान परिस्थितियों के चलते उनकी परेशानियां और बढ़ने वाली हैं.

जनमंच को बताया मंत्रियों का रंगमंच 

प्रेम कौशल ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के अंदर 'जनमंच' के माध्यम से कई कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं. इस कार्यक्रम का मकसद जनता की शिकायतों को दूर करना है, लेकिन जनमंच कार्यक्रम एक रंगमंच में तब्दील हो गया है. कांग्रेस प्रवक्ता प्रेम कौशल के मुताबिक प्रदेश सरकार ने पहले से चल रहे 'प्रशासन जनता के द्वार' कार्यक्रम का नाम बदलकर मंत्रियों को इसमें सम्मलित कर एक राजनीतिक ड्रामे का रूप दे दिया है. इसमें सरकारी धन का जमकर दुरुपयोग किया जा रहा है. इस कार्यक्रम के माध्यम से न्याय न मिल पाने से प्रदेश की जनता काफी हताश और निराश है.

ये भी पढ़ें:- ‘लेटर बम’ की वजह से हिमाचल भाजपा में मचा सियासी घमासान

APG यूनिवर्सिटी में फर्जीवाड़ा: 12वीं पास किए बिना ही LAW में दे दी एडमिशन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading