हमीरपुर: 92 साल की दादी ने कोरोना को दी मात, बोलीं-बीमारी का डटकर मुकाबला करो

हमीरपुर से 92 साल की लीलावती.

हमीरपुर से 92 साल की लीलावती.

Corona Virus: लीला देवी ने बताया कि कोरोना होने पर छह मई को बीमार हुई थी. लीला देवी ने कहा कि लोगों को कोरोना से डरना नहीं चाहिए, क्योंकि डरने वालों को सभी डराते है और कोरोना का डट कर मुकाबला करना चाहिए. उन्होंने कहा कि कोरोना बीमारी से बचने के लिए मुंह पर मास्क लगाए और सोशल डिस्टेसिंग को अपनाएं.

  • Share this:

हमीरपुर. कोरोना (Corona virus) माहमारी से लोगों में दहशत है. लेकिन इस बीमारी से लड़ने के लिए हौंसला सबसे बड़ी ताकत है. हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर (Hamirpur) जिला के सुजानपुर उपमंडल के तहत ग्राम पंचायत री की 92 वर्षीय लीला देवी ने कोरोना को हराया है. बुजुर्ग लीला देवी को सांस में दिक्कत होने पर गत 11 मई को कोविड केयर सेंटर हमीरपुर में भर्ती करवाया गया था और स्थिति में सुधार नहीं होने पर 14 मई को नेरचौक के लिए रेफर किया गया था.

नेरचौक अस्पताल में अपने दोनों पोतों के सेवा भाव से कोविड बीमारी से सेहत में सुधार होने पर लीला देवी को 20 मई को स्वस्थ होकर वह घर पहुंची है. उम्र दराज लीला देवी के कोरोना को मात देकर घर लौटने पर परिवार जन वाले भी बेहद खुश गैं. जिला उपायुक्त देव श्वेता बनिक के अलावा विधायक राजेन्द्र राणा ने भी लीला देवी के र्हौंसले को सलाम करते हुए कुशल लौटने पर बधाई दी है.

छह मई को हुई थी बीमार

लीला देवी ने बताया कि कोरोना होने पर छह मई को बीमार हुई थी. लीला देवी ने कहा कि लोगों को कोरोना से डरना नहीं चाहिए, क्योंकि डरने वालों को सभी डराते है और कोरोना का डट कर मुकाबला करना चाहिए. उन्होंने कहा कि कोरोना बीमारी से बचने के लिए मुंह पर मास्क लगाए और सोशल डिस्टेसिंग को अपनाएं.
पूरा परिवार हो गया था संक्रमित

लीला देवी के पुत्र जोगिन्द्र ठाकुर ने बताया कि माता को कोरोना के लक्षण आने पर टेस्ट के बाद प़ॉजीटिव हुए थे और इसके बाद सारा परिवार ही पॉजीटिव आया था. नेरचौक में ऑक्सीजन लेबल कम होने पर उपचाराधीन माता लीला देवी को छह दिनों तक अस्पताल में ही रखा गया था और उसके बाद माता के स्वस्थ होने पर घर लाया गया है. जोगिन्द्र ठाकुर ने उपायुक्त हमीरपुर और विधायक राजेन्द्र राणा का भी आभार जताते हुए कहा कि माता के उपचार के लिए इनका सहयोग बहुत मिला है.

सुकन्या ठाकुर ने बताया कि मेरी बेटी की शादी पहली मई को थी और शादी में पूरा परिवार पाजीटिव हुआ थ. पूरे परिवार के साथ माता लीला देवी भी अब पूरी तरह से स्वस्थ है. पोते नितिन ठाकुर ने कहा कि दादी का नेरचौक में दाखिल होने पर अस्पताल में पूरा ध्यान रखा है उन्होंने कहा कि अगर 92 साल की दादी कोरोना को हरा कर स्वस्थ हो सकती है तो बाकी उम्र के लोग स्वस्थ हो सकते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज