हमीरपुर: रिश्वत लेने का Video वायरल होने के बाद कानूनगो सस्पेंड, FIR
Hamirpur News in Hindi

हमीरपुर: रिश्वत लेने का Video वायरल होने के बाद कानूनगो सस्पेंड, FIR
कैमरे में कैद हुआ रिश्वत लेता कानूनगो.

Hamirpur Bribe Viral Video: आरोपी कानूनगो को हिरासत (Detained) में नहीं लिया गया है. वीडियो फुटेज (Video) के आधार पर पूरी पडताल की जाएगी. वॉयस को भी जांचा जाएगा.

  • Share this:
हमीरपुर. हिमाचल प्रदेश में हमीरपुर (Hamirpur) जिले में राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो ने हमीरपुर सदर के कानूनगो के खिलाफ एक लाख रुपये से अधिक रिश्वत लेने के आरोप में मामला दर्ज किया है. वहीं, बताया जा रहा है कि कानूनगो को सस्पेंड भी कर दिया गया है.

कानूनगो पर एक दुकान की जमीन (Land) का इंतकाल करवाने के नाम पर रिश्वत (Bribe) लेने का आरोप है. कानूनगो के रिश्वत लेने की घटना वीडियो (Video) कैमरे में भी कैद हो चुकी है. हमीरपुर (Hamirpur) शहर के कारोबारी ने कानूनगो की ओर से रिश्वत मांगने की शिकायत विजिलेंस में की है. शिकायत मिलने के बाद विजिलेंस ने केस दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है. साथ ही विजिलेंस (Vigilance) ने राजस्व से संबंधित रिकॉर्ड और वीडियो कैमरे की फुटेज को भी अपने कब्जे में ले लिया है. हालांकि, यह वीडियो एक सप्ताह पुराना है.

दुकान की जमीन का इंतकाल



शिकायतकर्ता अशोक कुमार ने विजिलेंस को दी शिकायत में कहा कि बीते वर्ष हमीरपुर शहर में एक दुकान खरीदी थी. इसकी फरवरी 2020 में रजिस्ट्री हुई. अब इस दुकान की जमीन का इंतकाल होना था, लेकिन सदर तहसील के नायब तहसीलदार और कानूनगो इंतकाल के कार्य में आनाकानी कर रहे थे. 28 जुलाई को इंतकाल होना था. जब वह तहसील कार्यालय में पहुंचे तो नायब तहसीलदार ने उन्हें कानूनगो से मिलने के लिए कहा.


तहसीलदार की मिली भगत?

कानूनगो ने उनसे इस कार्य के लिए एक लाख रुपये रिश्वत मांगी. इसके बाद कानूनगो 30 जुलाई को उनके रेस्तरां में आया, जहां उसे 50 हजार रुपये नकद दिए गए. शेष कार्य पूरा होने पर देने की बात हुई. 50 हजार रुपये लेने के बाद कानूनगो ने कहा कि उसमें 14 हजार रुपये कम हैं, जोकि बिल्कुल झूठ है. इसके बाद 4 अगस्त को उसने 14 हजार रुपये और लिए तथा 10 अगस्त को 50 हजार अतिरिक्त लिए. कानूनगो द्वारा पैसे लेने की घटना सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हो रही है.

क्या बोले डीएसपी

हमीरपुर डीएसपी विजिलेंस लालमन शर्मा ने कहा कि 14 अगस्त को शिकायत के आधार पर सदर कानूनगो ने जमीन की इंतकाल करने के लिए पैसों की मांग की है, जिसके तहत विजीलेंस ने एंटी क्रप्शन एक्ट के तहत केस दर्ज किया है. उन्होंने बताया कि विजिलेंस ने सारा रिकॉर्ड कब्जे में लेकर कानूनगो के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. अभी मामले की छानबीन चल रही है और कानूनगो को हिरासत में नहीं लिया गया है. वीडियो फुटेज के आधार पर पूरी पडताल की जाएगी और इसके साथ वीडियो फुटेज के साथ वॉयस को भी जांचा जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading