लाइव टीवी

बेटियां बचाने में देश भर में सर्वश्रेष्ठ हिमाचल का हमीरपुर जिला, मिला सम्मान

News18 Himachal Pradesh
Updated: October 16, 2018, 12:33 PM IST
बेटियां बचाने में देश भर में सर्वश्रेष्ठ हिमाचल का हमीरपुर जिला, मिला सम्मान
सांकेतिक तस्वीर.

हमीरपुर की आबादी चार लाख 55 हजार है और देश के करीब 600 से ज्यादा जिलों में हमीरपुर को पहला स्थान मिला.

  • Share this:
बेटियों बचाने में एक बार फिर से हिमाचल प्रदेश इक्कीस साबित हुआ है. हमीरपुर जिले ने देश में मिसाल पेश की है और इसे देश भर के सभी जिलों में बेटियां बचाने में सर्वोच्च सम्मान से नवाजा गया है.

लिंगानुपात, महिला एवं बाल स्वास्थ्य को लेकर भी जिले को पहला स्थान मिला है. दरअसल, हाल ही में दिल्ली के इंडिया हैबिटेट सेंटर में हमीरपुर की डीसी डॉ. रिचा वर्मा को छठे जेआरडी टाटा मेमोरियल अवॉर्ड से नवाजा गया. पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया के इस कार्यक्रम में नीति आयोग ने भी जिले के कामों की सराहना की.

दरअसल, जिले में गर्भवती महिलाओं की डिलीवरी, एनीमिया दूर करना, शिशु लिंगानुपात को लेकर बेहतर काम करने पर जिला प्रशासन को सराहा गया
है. इसी वजह से हमीरपुर को दो सर्वोच्च अवार्ड से नवाजा गया है, जो कि गौरव की बात है.

दो-दो राष्ट्रीय अवार्ड मिलने पर डीसी हमीरपुर रिचा वर्मा ने खुशी जाहिर की है और अवार्ड के लिए पूरे जिला के लोगों और कर्मचारियों को इसका श्रेय दिया है. न्यूज-19 हिमाचल के साथ डीसी रिचा वर्मा ने खास बातचीत की. उन्होंने कहा कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान पर उन्होंने दो चरणों में काम किया.

बता दें कि वर्ष 2015 की तुलना में अब जिले का लिंगानुपात 900 है, जबकि सामान्य लिंगानुपात टाटा स्टडी के अनुसार, यह 1095 है. जिले को मिले सर्वश्रेष्ठ अवॉर्ड के पीछे आशा वर्कर, स्वास्थ्य कर्मचारी, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की अहम भूमिका है, जिन्होंने घर-घर जाकर लोगों को जागरूक किया.

हमीरपुर की आबादी चार लाख 55 हजार है और देश के करीब 600 से ज्यादा जिलों में हमीरपुर को पहला स्थान मिला. केंद्र शासित राज्यों में चंडीगढ़ और अन्य राज्यों में पंजाब ने सर्वश्रेष्ठ स्थान झटका है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 16, 2018, 11:34 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर