Home /News /himachal-pradesh /

हमीरपुर में मनरेगा में धांधलीः 2 माह से बेड पर दिव्यांग बोली-खाते में पैसे डालकर वापस लिए, DC से शिकायत

हमीरपुर में मनरेगा में धांधलीः 2 माह से बेड पर दिव्यांग बोली-खाते में पैसे डालकर वापस लिए, DC से शिकायत

हमीरपुर में मनरेगा के नाम पर धांधली का मामला सामने आया है.

हमीरपुर में मनरेगा के नाम पर धांधली का मामला सामने आया है.

जिला उपायुक्त देव श्वेता बनिक ने कहा कि ग्राम पंचायत पंजोत की शिकायत पर जांच-पड़ताल की जाएगी. जांच के आधार पर कार्रवाई होगी. मामले पर ग्राम पंचायत प्रधान पंजोत चमन लाल से पक्ष जानना चाहा है तो उन्होंने बात करने से इंकार कर दिया. जिला पंचायत अधिकारी हरवंश सिंह ने भी कैमरे के सामने कुछ भी बोलने मना कर दिया.

अधिक पढ़ें ...

हमीरपुर. हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले में मनरेगा में दिहाड़ी के नाम पर विकास खंड टौणी दैवी में गड़बड़ी सामने आई है. ग्राम पंचायत पंजोत में काफी समय से बिना दिहाडी लगाए ही मजदूरों के नाम मस्ट्रोल में दर्ज करवाए जाते है और जब पैसे मजदूरों के अकाउंट में आने के बाद वापिस ले लिए जाते हैं. सारा गोलमाल पंचायत प्रधान से लेकर प्रतिनिधियों की मिलीभगत से हो रहा है. राजनीतिक पहुंच के चलते ग्रामीणों की आवाज को दबाया जा रहा है. अब आरटीआई से मनरेगा दिहाड़ियों में गड़बड़ी का खुलासा हुआ है.

जानकारी के अनुसार, छौं गांव के एक व्यक्ति ने पंचायत प्रतिनिधियों पर कार्यों में अनियमितताएं बरतने के आरोप लगाए हैं. योगेन्द्र राठौर ने बताया कि पंचायत के वार्ड- एक में रास्ते का निर्माण किया गया है. कागजों में चौड़ाई 3 से 4 फुट है, जबकि  जमीन पर अलग.गांव के कुछ ऐसे लोगों के नाम मनरेगा में डाले गए हैं, जो कि पिछले डेढ़ महीने से बीमार और बेड पर हैं.

आरटीआई से मनरेगा दिहाड़ियों में गड़बड़ी का खुलासा हुआ है.

लिखित में दी शिकायत

योगेन्द्र राठौर ने बताया कि अनियमिताताओं की शिकायत बीडीओ के पास लिखित शिकायत की गई है तो मुख्यमंत्री हेल्पलाइन में भी शिकायत की गई थी, लेकिन कार्रवाई नहीं की गई है. राजनीतिक दबाब के चलते मामले में कोई भी कार्रवाई अधिकारी करने से डर रहे हैं. क्योंकि विधायक का पीए ही पंचायत प्रधान है. जिला परिषद उपाध्यक्ष नरेश कुमार दर्जी ने कहा कि मनरेगा के नाम पर ग्राम पंचायत पंजोत में गड़बड़ा की छानबीन की जाएगी. घर पर उपचार कर रही अपाहित पम्मी देवी ने बताया कि पिछले दो महीनों से ही उपचार करवा रही है. खाते में पैसे आते हैं, लेकिन बाद में पंचायत प्रतिनिधियों की ओर से पैसे वापिस लिए जाते हैं.

पैसे खाते में डलवाने के बाद वापस ले लेते हैं
स्थानीय निवासी कर्म सिंह ने बताया कि पंचायत में पूरा काम ठेके पर करवाया जाता है और मजदूरों की केवल हाजिरी लगाई जाती है. बाद में मजदूरों के खातों में से पैसों को निकाल कर वापिस लिया जाता है.

क्या कहती हैं डीसी

जिला उपायुक्त देव श्वेता बनिक ने कहा कि ग्राम पंचायत पंजोत की शिकायत पर जांच-पड़ताल की जाएगी. जांच के आधार पर कार्रवाई होगी.  मामले पर ग्राम पंचायत प्रधान पंजोत चमन लाल से पक्ष जानना चाहा है तो उन्होंने बात करने से इंकार कर दिया. जिला पंचायत अधिकारी हरवंश सिंह ने भी कैमरे के सामने कुछ भी बोलने मना कर दिया.  बता दें कि ग्राम पंचायत प्रधान वर्तमान में भोरंज की विधायक कमलेश कुमारी का पीए है और साथ में जिला भाजपा में भी अहम ओहदे पर तैनात है.

Tags: Himachal pradesh, Shimla News

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर