HRTC बस ने बाइकसवार को कुचला, ड्राइवर की सूझबूझ से बची 40 यात्रियों की जान

हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर से जालंधर जा रही एचआरटीसी की एक बस स्टीयरिंग फ्री होने से लठियानी के पास हुए हादसे में एक बाइकसवार की मौत हो गई है.

Jasbir Kumar | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 12, 2018, 2:59 PM IST
HRTC बस ने बाइकसवार को कुचला, ड्राइवर की सूझबूझ से बची 40 यात्रियों की जान
एचआरटीसी प्रबंधन के खिलाफ बस चालक नारा लगाते हुए
Jasbir Kumar | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 12, 2018, 2:59 PM IST
हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर से जालंधर जा रही एचआरटीसी की एक बस स्टीयरिंग फ्री होने से लठियानी के पास हुए हादसे में एक बाइकसवार की मौत हो गई है. हालांकि इस हादसे के दौरान ड्राइवर की सूझबूझ के चलते 40 यात्रियों की जान बच गई. हालांकि हादसे के बाद एचआरटीसी प्रबंधन अपनी खाल बचाने में लगी है.

यह हादसा स्टीयरिंग खुलने के साथ ब्रेक फेल होने की वजह से हुआ है लेकिन एचआरटीसी अधिकारी उल्टा चालक को ही इस हादसे के लिए दोषी मान रहे हैं और गाड़ी को पूरी तरह से ठीक बताया जा रहा है. एचआरटीसी प्रबंधन के इस रवैया के चलते एचआरटीसी चालक संघ ने मोर्चा खोलते हुए रोष जताया है।

एचआरटीसी प्रबंधन पर आरोप लगाते हुए चालकों का कहना है कि प्रबंधन हमारा कई सालों से शोषण कर रहा है. इस हादसे पर जहां पुलिस की रिपोर्ट भी चालक के पक्ष में है और मौके पर लिए गए फोटो से भी साबित हो रहा है कि हादसे की वजह स्टीयरिंग का टूटना है. स्टीयरिंग के टूटने से चालक नियंत्रण खो बैठा और कोने में खड़े एक बाइक सवार पर चढ़ गया. हालांकि ड्राइवर की सूझबूझ से बस में सवार चालीस यात्रियों की जान भी बच गई.

एचआरटीसी चालक संघ अध्यक्ष ठाकुर मान सिंह ने आरोप लगाया कि एचआरटीसी निगम प्रबंधन के जांच कमेटी के अधिकारी सारे सबूतो को अनदेखा कर रहे हैं और चालक पर ही सारा दोष दे रहे हैं. उन्होंने विरोध जताते हुए कहा कि प्रबंधन हमेशा चालकों और मैकेनिकों का शोषण करता आ रहा है और इनके गलत रवैया के चलते ऐसे हादसे हो रहे हैं.

बस चालक महेश कुमार ने बताया कि लठियानी के पास बस की स्टीयरिंग टूटने से हादसा हुआ है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर