लाइव टीवी

'रामलाल ठाकुर तीन बार चुनाव लड़े और अब चौथी बार मैदान में हैं, वे रिपोर्ट कार्ड दिखाएं'

Amit Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: April 21, 2019, 12:58 PM IST
'रामलाल ठाकुर तीन बार चुनाव लड़े और अब चौथी बार मैदान में हैं, वे रिपोर्ट कार्ड दिखाएं'
प्रवीण शर्मा,हिमाचल भाजपा के उपाध्यक्ष व हमीरपुर संसदीय क्षेत्र के चुनाव प्रभारी

प्रवीण शर्मा ने कहा कि रामलाल ठाकुर तीन बार लोकसभा का चुनाव लड़े और हारे और अब चौथी बार मैदान मेें है, तो वे उन मतदाताओं को बताएं कि आखिर वे हार के बाद क्यों संसदीय क्षेत्र में नजर नहीं आए?

  • Share this:
हिमाचल भाजपा के उपाध्यक्ष व हमीरपुर संसदीय क्षेत्र के चुनाव प्रभारी प्रवीण शर्मा ने कांग्रेस प्रत्याशी राम लाल ठाकुर को चुनौती देते हुए कहा कि वे हमीरपुर हलके की जनता को अपना रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत करें कि आखिर उन्होंने बतौर मंत्री, विधायक व 20 सूत्रीय कार्यक्रम के अध्यक्ष रहते हुए क्या काम किया है? ऊना में पत्रकारों से बात करते हुए प्रवीण शर्मा ने कहा कि रामलाल ठाकुर तीन बार लोकसभा का चुनाव लड़े और हारे और अब चौथी बार मैदान मेें है, तो वे उन मतदाताओं को बताएं कि आखिर वे हार के बाद क्यों संसदीय क्षेत्र में नजर नहीं आए?

प्रवीण शर्मा ने कहा कि वीरभद्र सरकार में वनमंत्री रहते हुए राम लाल ठाकुर ने प्रदेश के लकड़ी के कारोबार को तहस-नहस करने का काम किया और 393 से अधिक आरा मिलों को बंद करवाया. उन्होंने कहा कि राम लाल बताएं कि उद्योगमंत्री रहते हुए उनके कार्यकाल में कितने उद्योग आएं और कितनों को रोजगार मिला.

प्रवीण शर्मा ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री रहते हुए रामलाल के समय में स्वास्थ्य सुविधाएं सबसे ज्यादा चरमराई रही. उन्होंने कहा कि राम लाल ठाकुर तीन बार लोकसभा का चुनाव लड़े और हारने के बाद कभी हमीरपुर संसदीय क्षेत्र की जनता के बीच नहीं आए.

प्रवीण ने कहा कि आज रामलाल ठाकुर आधारहीन बयानबाजी करके जनता को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं, जबकि राम लाल ठाकुर को जनता को अपनी उपलब्धियां बतानी चाहिए.

यह भी पढ़ें: चारों सीटों के लिए 22 को जारी होगी नोटिफिकेशन, 22-29 तक चलेगी नामांकण प्रक्रिया

 युवती का सहकर्मी ने किया यौन शोषण, जांच अधिकारी बोले-'अबॉर्शन कराओ और भूल जाओ'

लाहौल घाटी के इन गांवों में पेयजल संकट, डेढ़ किमी. पीठ पर उठाकर लाते हैं पानी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऊना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 21, 2019, 12:52 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर