होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /

हमीरपुर ब्लाइंड मर्डर: पैरों और माथे पर ठोकी थी कीलें, दो दोषियों को उम्रकैद

हमीरपुर ब्लाइंड मर्डर: पैरों और माथे पर ठोकी थी कीलें, दो दोषियों को उम्रकैद

फिलहाल पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है. (सांकेतिक तस्वीर)

फिलहाल पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है. (सांकेतिक तस्वीर)

Hamirpur Blind Murder: 15 जून, 2016 को यूपी के दातिया पुलिस स्टेशन में छोटा राम ने फोटो से मृतक के चेहरे की पहचान की.

हमीरपुर. हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर (Hamirpur) जिला के भोटा के पास जून 2016 में हुए ब्लाइंड मर्डर केस (Blind Murder Case) में अतिरिक्त सेशन जज हमीरपुर नरेश कुमार की अदालत ने दो दोषियों को उम्रकैद (Life Imprisonment) की सजा सुनाई है. दोषियों को 15-15 हजार रुपए जुर्माना भी भरने के आदेश दिए गए हैं. अदालत ने यूपी के दो प्रवासियों करण सिंह पुत्र परमेश्वरी जिला रामपुर यूपी (32) और वीरेंद्र कुमार पुत्र रामप्रकाश (26) जिला बदायूँ को धारा 302ए 201ए 34 आईपीसी के तहत जुर्माना के साथ आजीवन कारावास की सजा सुनाई है.

ये है मामला
हमीरपुर पुलिस कंट्रोल रूम से 13 जून, 2016 को सुबह साढ़े आठ बजे भोटा पुलिस सहायता कक्ष में सूचना आई कि भोटा-घुमारवीं नेशनल हाई-वे पर ‘टियाले दा घट’ जगह पर पुलिया के नीचे एक शव पड़ा हुआ है. एएसआई विनोद कुमार और हेड कांस्टेबल अमरनाथ मौके पर पहुंचे. वहां आधी जली हुई डेडबॉडी पड़ी थी. डेडबॉडी की बाईं बाजू और कान को किसी जानवर ने खा लिया था, जबकि पैरों और माथे पर कीलें ठोकी हुई थीं. एक बाजू पर प्रेम राज सिंह लिखा हुआ था.

यह था मौत का कारण
पुलिस ने इस अज्ञात शव पोस्ट्मॉर्टम टांडा में करवाया. मौत का कारण गर्दन को मरोड़ना और सांस घुटना बताया गया. पुलिस ने मृतक के तीन दांत डीएनए के लिए सुरक्षित रख लिए. अज्ञात शव मिलने की जानकारी सभी पुलिस स्टेशन को दे दे गई. 15 जून, 2016 को यूपी के दातिया पुलिस स्टेशन में छोटा राम ने फोटो से मृतक के चेहरे की पहचान की.

ऐसे पकड़ा गया था आरोपी
छोटा राम से पुलिस को पता चला कि प्रेम राज सिंह भतीजे कर्ण के साथ हिमाचल के ऊना जिला में रहता है. आरोपी कर्ण का मोबाइल नंबर पुलिस के हाथ लग गया. यहीं से इस ब्लाइंड मर्डर की गुत्थी सुलझना शुरू हो गई. मोबाइल नंबर की सीडीआर और घटनास्थल की लोकेशन से यह तय हो गया कि हत्यारा भतीजा कर्ण ही है. पुलिस ने पता लगाया कि कर्ण होशियारपुर में है, उसे गिरफ्तार कर पूछताछ हुई तो उसने गुनाह कबूल कर लिया. कर्ण ने बताया कि उसके साथ दूसरा आरोपी वीरेंद्र कुमार भी इस गुनाह में शामिल है. 16 जून को दोनों को गिरफ्तार कर पुलिस रिमांड पर लिया गया और घटना स्थल पर जरूरी प्रमाण एकत्रित किए गए. पुलिस ने कोर्ट में चालान पेश किया और इस पर सुनवाई शुरू हुई.

यूपी के हैं दोनों दोषी
अतिरिक्त सेशन जज हमीरपुर नरेश कुमार ने केस नंबर 15, 2016 में गुरुवार को फैसला सुनाया कि यूपी के दो प्रवासियों करण सिंह पुत्र परमेश्वरी जिला रामपुर यूपी (32) और वीरेंद्र कुमार पुत्र रामप्रकाश (26) जिला बदायूं को धारा 302-ए 201-ए-34 आईपीसी के तहत 15-15 हजार रुपए जुर्माना के साथ आजीवन कारावास की सजा भुगतनी होगी.

ये भी पढ़ें: हिमाचल के कायल हुए Big-B, ‘यहां की सच्‍चाई-सादगी के बराबर कभी नहीं पहुंच सकते‘

हिमाचल: पति पर ‘अवैध संबंध’ का शक, 26 साल की पत्नी ने किया सुसाइड

पहले नाबालिग के साथ गई युवती, अब लगाया रेप का आरोप, FIR

हिमपात के चलते लाहौल स्पीति का विश्व से संपर्क कटा,हेलीकॉप्टर सेवा की उठी मांग

PHOTOS: मनाली में बर्फबारी में सैलानियों की मस्ती, घाटी में बढ़ी परेशानी

हिमाचल में बारातियों को लेकर जा रही प्राईवेट बस खाई में गिरी, 25 घायल

Tags: Murder

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर