हमीरपुर में वीरभद्र सिंह बोले-कांग्रेस की ‘गंदगी‘ साफ हो गई तो मंच से चले गए सुक्खू-आनंद शर्मा
Hamirpur News in Hindi

हमीरपुर में वीरभद्र सिंह बोले-कांग्रेस की ‘गंदगी‘ साफ हो गई तो मंच से चले गए सुक्खू-आनंद शर्मा
हमीरपुर में मंच पर वीरभद्र सिंह, आनंद शर्मा और सुक्खविंद्र सिंह सुक्खू.

मंडी में कांग्रेस की परिवर्तन रैली में वीरभद्र ने मात्र तीन मिनट का भाषण दिया, लेकिन इस भाषण में वो सभी बातें कह गए जो कहना चाहते थे. वीरभद्र सिंह ने कहा कि उनसे पूर्व वक्ताओं ने सारी बातें कह दी हैं और कही हुई बात को दोहराना कोई समझदारी नहीं है.

  • Share this:
हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस में एक बार फिर से गुटबाजी देखने को मिली है. वीरभद्र सिंह और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंद्र एक दूसरे के धुर विरोधी हैं. इसकी बानगी एक बार फिर से देखने को मिली. हमीरपुर में कांग्रेस प्रत्याशी के नामांकन दाखिल करने के बाद एक रैली हुई.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह भी मौजूद रहे. उन्होंने भाषण के दौरान पार्टी नेताओं पर जुबानी हमला बोला. जनसभा के दौरान वीरभद्र सिंह ने हिमाचल कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल, सह-प्रभारी गुरकीरत सिंह कोटली, पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप राठौर, पूर्व अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू और कांग्रेस विधायकों के सामने मंच से ही खरी-खरी सुना दी.

ये कहा वीरभद्र सिंह ने
वीरभद्र सिंह ने कहा कि कुलदीप राठौर के अध्यक्ष बनने के बाद हिमाचल कांग्रेस कमेटी से गंदगी साफ हो गई. वीरभद्र सिंह की इसी बात से सुक्खू और आनंद शर्मा मंच छोड़कर चले गए. पार्टी प्रत्याशी रामलाल पर वीरभद्र सिंह बोले कि उनके मिजाज को वह भांप नहीं पाए. रामलाल कब खुश होते हैं और कब नाराज, इसका पता ही नहीं चलता.
वीरभद्र हुए नाराज


पूर्व कांग्रेस कमेटी पर वीरभद्र सिंह के बयान से जनसभा में ठहाके लगे, वहीं पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सुक्खू के समर्थक भड़क उठे. उन्होंने वीरभद्र सिंह संबोधन के दौरान ही हल्ला कर दिया. वहीं, मंच पर बैठे पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा और सुक्खू वहां से चले गए और गाड़ी में बैठ गए. जनसभा से पार्टी कार्यकर्ताओं के उठने से वीरभद्र नाराज दिखे और कहा कि यह कौन मूर्ख है, जो बीच में ही हल्ला कर रहा है.

मंडी में केवल तीन मिनट बोले वीरभद्र सिंह
मंडी में कांग्रेस की परिवर्तन रैली में वीरभद्र ने मात्र तीन मिनट का भाषण दिया, लेकिन इस भाषण में वो सभी बातें कह गए जो कहना चाहते थे. वीरभद्र सिंह ने कहा कि उनसे पूर्व वक्ताओं ने सारी बातें कह दी हैं और कही हुई बात को दोहराना कोई समझदारी नहीं है. उन्होंने कहा कि समझदार को ईशारा ही काफी होता है. वीरभद्र सिंह ने कहा कि मंडी संसदीय क्षेत्र की प्रबुद्ध जनता को जगाने के लिए तोप लाने की जरूरत नहीं. वीरभद्र सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने मंडी से एक युवा प्रत्याशी को मैदान में उतारा है और हम सभी को उसे जिताकर संसद भेजना है.

तो क्या कांग्रेस प्रत्याशियों से खुश नहीं हैं वीरभद्र सिंह?
दरअसल, इस लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने हिमाचल की चार सीटों में से तीन पर जो प्रत्याशी उतारे हैं, वह वीरभद्र गुट से नहीं हैं. कांगड़ा के पवन काजल ही वीरभद्र सिंह के खास माने जाते हैं. तीन सीटों पर कांग्रेस ने वीरभद्र समर्थित नेताओं को टिकट नहीं दिया है.

ये भी पढ़ें: हिमाचली युवती से मोहाली में रेप: आरोपी टैक्सी ड्राइवर गिरफ्तार, पहले भी 4 युवतियों से कर चुका है दुष्कर्म

मंडी सीट: कांग्रेस प्रत्याशी आश्रय और पत्नी राधिका हैं करोड़पति, 3.41 करोड़ है कुल संपत्ति

सुर्खियां: मासूम और सामान उठाकर महिला ने पार किया रोहतांग दर्रा, BJP के ‘त्रिदेव’ दिखाने लगे दम

ड्रग कंट्रोलर पर करोड़ों की वसूली के आरोप का मामला : शिकायतकर्ता ने कहा- मैंने नहीं की कोई शिकायत

PHOTOS: मंडी में मंच पर रो पड़े सुखराम और आश्रय शर्मा, वीरभद्र सिंह से मांगी माफी

‘विवादित बोलों‘ पर हिमाचल BJP के अध्यक्ष सत्ती को EC का तीसरा नोटिस

यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं कक्षा के नतीजे सबसे पहले देखने के लिए यहां क्लिक करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading