लाइव टीवी

डंपिंग साइट पर धर्मशाला में हंगामा, लोगों ने हाईवे किया जाम, लोग हुए बेहाल
Dharamsala News in Hindi

Bichitar Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: January 6, 2020, 5:38 PM IST
डंपिंग साइट पर धर्मशाला में हंगामा, लोगों ने हाईवे किया जाम, लोग हुए बेहाल
धर्मशाला में डंपिंग साइट को लेकर जाम लगाते हुए लोग.

Highway Blocked in Dharamshala: एसडीएम हरीश गज्जू ने लोगों को 15 सदस्यीय कमेटी बनाकर प्रशासन के साथ बातचीत करने का आश्वासन दिया और इस मसले पर ठोस हल निकालने की बात की. इसके बाद लोगों ने चक्का जाम खोल दिया.

  • Share this:
धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के कांगड़ा जिले में धर्मशाला (Dharamshala) में कूड़े-कचरे की बदौलत दोज़ख की जिंदगी जी रहे सुधेड़ के लोगों ने अब जिला प्रशासन और नगर निगम के खिलाफ आर-पार की लड़ाई लड़ने का मन बना लिया है. यही वजह है कि सोमवार सुबह 10 बजे से लेकर करीब साढ़े 11 बजे तक धर्मशाला को पूरी तरह से जाम (Highway Blocked) कर दिया था.

सुधेड़ के सैकड़ों लोगों ने धर्मशाला में पड़ रही कड़ाके की ठंड को भी धत्ता दिखाते हुए शहर की मुख्य चौक गांधी वाटिका चौक पर प्रदर्शन करते हुए शहर के तमाम हाई-वे (Highway Jam) को जाम कर दिया, जिसकी बदौलत राजधानी दिल्ली, शिमला और चंडीगढ़ समेत हर जगह से धर्मशाला में आवाजाही करने वाले वाहनों को रोक दिया.

हाईवे पर लगा जाम
करीब डेढ़ घंटे तक मैकलोड़गंज-धर्मशाला- दिल्ली हाई-वे और पठानकोट-चम्बी-धर्मशला-दिल्ली हाई-वे पर जाम लगा रहा. करीब 6 किलोमीटर तक वाहनों की लम्बी-लम्बी कतारें लगी रहीं. इतना ही नहीं चक्का जाम की वजह से धर्मशाला के बस स्टैंड से भी करीब डेढ़ घंटा तक एक भी निजी और सरकारी बस आवाजाही नहीं कर पाई. कुछ पल के लिए तो पर्यटन नगरी धर्मशाला पूरी तरह से जाम हो गई.



जाम से धर्मशाला में हाईवे पर लगी वाहनों की कतारें.
जाम से धर्मशाला में हाईवे पर लगी वाहनों की कतारें.


पुलिस के हाथ पैर फूले
शहर में जाम की स्थिति को देखते हुए कुछ पल के लिए तो पुलिस प्रशासन के भी हाथ-पैर फूल गए ट्रैफिक व्यवस्था को सुचारू करने के लिए भी दिक्कतों का सामना करना पड़ा.

यह है मामला
दरअसल, सुधेड़ के लोगों की मांग है कि धर्मशाला को स्मार्ट शहर बनाने के लिए यहां के कूड़े-कचरे को शाहपुर विधानसभा की सुधेड़ पंचायत में डंप किया जा रहा है, जबकि यहां की सैकड़ों की आबादी इस गंदगी की चपेट में आ रही है. लोगों का जीना दूभर हो चुका है. उनकी जिंदगी में ये कूड़ा ज़हर घोल रहा है. सुबह-शाम गंदी हवा महामारी को बढ़ा रही है. गांवों में बीमारियां फैल रही हैं...बच्चे-बुजुर्ग बीमार हो रहे हैं, लेकिन जिला प्रशासन और नगर निगम बार-बार चेताने पर भी गांव के लोगों की समस्या का स्थाई हल नहीं कर पा रहा, जिसकी बदौलत अब उन्हें सड़कों पर उतरना मजबूरी बन चुका है.

एसडीएम मौके पर पहुंचे
लोगों ने जिला प्रशासन के खिलाफ़ नारेबाजी करते हुए कहा कि अगर इस बार भी उनकी इस बड़ी समस्या का स्थाई हल नहीं किया गया तो फिर उन्हें इसके लिए बड़ा आंदोलन छेड़ना पड़ेगा. घंटों जाम और वाहनों की लंम्बी-लम्बी कतारों को देखते हुए स्थानीय प्रशासन की ओर से एसडीएम हरीश गज्जू ने मौके पर पहुंचकर लोगों को आश्वासन दिया, लेकिन लोग स्थाई आश्वासन की मांग करते हुए अपने ढर्रे पर कायम रहे, जिसको देखते हुए एसडीएम हरीश गज्जू ने लोगों को 15 सदस्यीय कमेटी बनाकर प्रशासन के साथ बातचीत करने का आश्वासन दिया और इस मसले पर ठोस हल निकालने की बात की. इसके बाद लोगों ने चक्का जाम खोल दिया.

ये भी पढ़ें: हिमाचल में HRTC की दो बसों से भिड़ा ट्राला, दो बच्चों सहित 12 घायल

VIDEO:CM-अफसरों को कहा ‘सुस्त’, बजीं तालियां, मंत्री ने पूछा-कौन बजा रहा ताली?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 6, 2020, 5:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर