Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    कल से 25 रूटों पर दौड़ेंगी एचआरटीसी की बसें, हिमाचल सरकार ने बसों को चलाने का लिया फैसला

    हिमाचल ट्रांसपोर्ट की बसें 14 अक्टूबर से 25 रुटों पर चलेंगी.
    हिमाचल ट्रांसपोर्ट की बसें 14 अक्टूबर से 25 रुटों पर चलेंगी.

    हिमाचल (Himachal) सरकार ने अंतरराज्यीय बसों को चलाने का फैसला किया है. अब एचआरटीसी (HRTC) 14 अक्तूबर से चुनिंदा 25 रूटों पर दौड़ेंगी. बसों के परिचालन के लिए कुछ शर्तों का पालन करना पड़ेगा.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 13, 2020, 6:12 PM IST
    • Share this:
    शिमला. कोरोना संकट (Corona Crisis) के बीच एक हिमाचल (Himachal) आने और बाहर जाने के लिए परेशानी झेल रहे लोगों के लिए खुशखबरी है. प्रदेश सरकार ने एचआरटीसी (HRTC) की अंतरराज्यीय बस सेवाएं शुरू करने के लिए मंजूरी दे दी है. 14 अक्तूबर से चुनिंदा 25 रूटों पर नॉन एसी बसें चलेंगी. इसमें रात्रि बसें भी शामिल हैं. पहले चरण में चंडीगढ़, पठानकोट, बद्दी, होशियारपुर, लुधियाना, अंबाला, हरिद्वार इत्यादि प्रमुख रूट होंगे. हालांकि यह फैसला कैबिनेट बैठक में होना था, लेकिन सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) होम क्वारंटीन हैं.

    इसलिए परिवहन मंत्री बिक्रम सिंह ने सीएम से अनुमति लेकर बसें चलाने का आदेश जारी किया है. परिवहन मंत्री बिक्रम सिंह ने कहा कि नवरात्रों और त्यौहारों के मद्देनजर लोगों को सुविधा प्रदान करने के लिए प्रदेश सरकार ने यह निर्णय लिया है. पिछले कुछ समय से आम लोग भी अंतरराज्यीय बस सेवाएं शुरू करने की मांग कर रहे थे, क्योंकि अभी तक वो लोग ही आसानी से प्रदेश में आ-जा रहे थे, जिनके पास अपने वाहन थे. या टैक्सियों का किराया दे सकते थे. सरकार ने बसों के परिचालन के लिए एसओपी भी जारी कर दी है.

    ऊना-नंगल हाईवे पर टेंपो-थ्री व्हीलर की जोरदार भिड़ंत, 9 लोग घायल, जांच में जुटी पुलिस



    बाहरी राज्यों की अभी नहीं चलेंगी बसें
    हिमाचल ने बेशक एचआरटीसी को बाहरी राज्यों में आने-जाने की अनुमति दे दी है, लेकिन बाहरी राज्यों की बसें अभी हिमाचल में नहीं चलेंगी. पंजाब-हरियाणा रोड़वेज सहित उत्तराखंड परिवहन की बसें भी हिमाचल में चलती हैं. इन राज्यों ने भी बसों के परिचालन के लिए अनुमति मांगी है, लेकिन अभी तक उनको अनुमति नहीं दी गई है. परिवहन मंत्री ने कहा कि अभी इस पर फैसला होना बाकी है. हिमाचल भी अंतरराज्यीय बस सेवाएं शुरू होने के बाद बसों की आक्युपेंसी देखेगा. उसके बाद ही रूट्स बढ़ाए जाएंगे. हालांकि सरकार ने बसों को चलाने के लिए कुछ शर्तें रखी हैं, जिनको ध्यान में रखकर बसों का संचालन किया जाएगा.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज