HRTC बस कंडक्टर भर्ती परीक्षा का प्रश्न-पत्र लीक मामले की SIT करेगी जांच, DGP ने गठित की टीम

हिमाचल प्रदेश में एचआरटीसी कंडक्टर भर्ती में पेपर लीक मामले की एसआईटी जांच करेगी.
हिमाचल प्रदेश में एचआरटीसी कंडक्टर भर्ती में पेपर लीक मामले की एसआईटी जांच करेगी.

HRTC बस कंडक्टर भर्ती परीक्षा का पेपर लीक (Papaer Leak) करने के मामले की जांच अब SIT करेगी. डीजीपी (DGP) संजय कुंडू ने इसके लिए टीम गठित कर दी है. वहीं परीक्षा (Exam) रद्द होगी या नहीं इस पर चर्चा होने लगी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2020, 4:25 PM IST
  • Share this:
शिमला. एचआरटीसी (HRTC) कंडक्टर भर्ती परीक्षा प्रश्न-पत्र लीक (Question Paper Leaked) मामले की जांच अब एसआईटी (SIT) करेगी. हिमाचल के डीजीपी संजय कुंडू ने डीजीआई क्राइम विमल गुप्ता के नेतृत्व में 7 सदस्यीय एसआईटी का गठन किया है. इस मामले की जड़े प्रदेश के कई हिस्सों में फैली हुई हैं, जिसके चलते एसआईटी में विभिन्न जिलों से सदस्यों को चुना गया है.

ये हैं एसआईटी में
इस विशेष जांच दल में तीन आईपीएस अधिकारी और 5 एचपीएस अधिकारियों को शामिल किया गया है. डीआईजी क्राइम बिमल गुप्ता एसआईटी का नेतृत्व करेंगे. शिमला के एसपी मोहित चावला, कांगड़ा के एसपी विमुक्त रंजन, साइब्रर क्राइम थाना के एसपी संदीप धवल, CID शिमला के एसपी संदीप भारद्वाज, सोलन के एडिश्नल एसपी अशोक कुमार, हमीरपुर की डीएसपी रेणू कुमारी और मंडी के डीएसपी करन सिंह गुलेरिया को एसआईटी का सदस्य बनाए गए हैं.

हिमाचल: HRTC कंडक्टर भर्ती पेपर लीक मामले के दूसरे आरोपी ने किया सरेंडर
तीन आरोपी गिरफ्तार


रविवार को सामने आए एचआरटीसी बस कंडक्टर पेपर लीक मामले में अब तक तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इनमें शिमला जिले के रोहड़ू के रहने वाले दो सगे भाई शामिल हैं. गिरफ्तार किए गए दोनों भाइयों की पहचान लक्की शर्मा, सन्नी शर्मा पुत्र हेमराज शर्मा, गांव बताड़ी डाकघर अडाहल तहसील रोहड़ू के रूप में हुई है. तीसरा आरोपी कांगड़ा से गिरफ्तार किया गया है. इसकी पहचान मनोज शर्मा पुत्र आत्मा राम निवासी बोहरका डाकघर भाली तहसील ज्वाली, जिला कांगड़ा के रूप में हुई है.

ये बोली हिमाचल पुलिस
पुलिस मुख्यालय से डीजीपी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि विशेष जांच दल पूरे प्रकरण के पीछे संलिप्त किसी संगठित गिरोह या समूह की सक्रियता का पता लगाएगी. इस परीक्षा के संचालन में किसी तरह की अनिमियत्तता और चूक की भी जांच करेगी. हालांकि आयोग की ओर से इस परीक्षा को रद्द नहीं किया गया है.

PHOTOS: हिमाचल का ‘गौरव’; जीत पर हमीरपुर से लेकर न्यूजीलैंड तक जश्न

ये है मामला
शिमला में रविवार को एपीजी यूनिवर्सिटी स्थित परीक्षा केंद्र में एचआरटीसी बस कंडक्टर परीक्षा के दौरान एक अभ्यर्थी मोबाइल लेकर पहुंचा था. इस अभ्यर्थी ने अपने मोबाइल से प्रश्न पत्र की तस्वीरें खींचकर अपने भाई को भेज दी. मोबाइल से तस्वीरें खींचते वक्त निरीक्षक ने उसे पकड़ लिया था. अभ्यर्थी मौके से फरार होने में कामयाब हो गया था. केंद्र ने इसकी सूचना पुलिस को दी और पुलिस तुंरत मौके पर पहुंची थी. देर शाम पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था. यहीं से पता चला था कि कांगड़ा के शाहपुर में भी एक सेंटर में प्रश्न-पत्र लीक किया गया था. कर्मचारी आयोग के मुताबिक कंडक्टर के 568 पदों के लिए करीब 60 हजार उम्मीदवारों ने आवेदन किया था. प्रदेशभर में 304 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज