COVID-19: विश्व के सबसे ऊंचे मोटरेबल गांव कोमिक में 100% लोगों को लगी कोरोना वैक्सीन

कोरोना वैक्सीनेशन के लिए कौमिक पहुंची टीम.

कोरोना वैक्सीनेशन के लिए कौमिक पहुंची टीम.

Corona vaccination in Kaza: काजा खंड की कुल 13 पंचायतों में से 10 इंटरनेट से जुड़ी नहीं हैं. ऐसे में ऑनलाइन वैक्सीन प्रक्रिया करने में दिक्कत न आए, इसलिए काजा में ऑफलाइन काम कर पूरा किया लक्ष्य.

  • Share this:

काजा (लाहौल स्पीति). हिमाचल प्रदेश के जनजातीय और छह महीने से बर्फ से ढके रहने वाले जिला लाहुल स्पीति (Lahual Spiti) के काजा खंड में कोरोना महामारी के खिलाफ टीकाकरण (Corona Vaccination) में 100 फीसदी लक्ष्य हासिल किया जा चुका है. 45 साल से अधिक आयु वर्ग और साठ वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी नागरिकों को कोरोना की टीकाकरण किया जा चुका है. साठ वर्ष से अधिक आयु वर्ग के वरिष्ठ नागरिकों को पहली और दूसरी दोनों डोज दी जा चुकी हैं. वहीं, 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के नागरिकों को अभी पहली डोज ही दी गई है. जल्द ही उन्हें दूसरी डोज दी जाएगी. 18 से 44 वर्ष के आयु वर्ग को पहली डोज लगाए जाने को लेकर सारी तैयारियां पूरी कर ली गई है. कुछ दिनों में उनका भी टीकाकरण किया जाएगा।

विश्व के सबसे ऊंचे मोटरेबल गांव कोमिक में 100 प्रतिशत टीकाकरण किया जा चुका है. लांगचा पंचायत के तहत 4587 मीटर की ऊंचाई पर स्थित कोमिक गांव में 100 फीसदी टीकाकरण किया गया है. अभी इस गांव में 18 से 44 वर्ष के आयुवर्ग का टीकाकरण किया जाना शेष है. इस गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम में कुलवंत सिंह, आशा वर्कर पदमा ने टीकाकरण किया है.

कौमिक में टीकाकरण करते हुए स्वास्थ्य विभाग.

क्या बोले एडीएम
एडीएम ज्ञान सागर नेगी ने कहा कि स्पिति बर्फबारी के कारण कई महीनों तक अन्य हिस्सों से कटा रहता है. यहां पर गांव तक बर्फबारी में पहुंचने में काफी दिक्कतों को सामना करना पड़ता है और तापमान माइनस 30 से 40 डिग्री रहता है. वैक्सीन को लेकर हमारे सामने काफी चुनौतियां थीं. 18 जनवरी को जब अभियान शुरू किया तो हमें इस बात का अंदाजा नहीं था कि अपने लक्ष्य को 100 फीसदी हासिल कर पाएंगे. गांव-गांव जाकर लोगों को वैक्सीन के प्रति जागरूक किया और उनके भ्रांतियों को दूर किया. इसके बाद फ्रंट लाइन वाॅरियरर्स ने जब वैक्सीन  लगा ली तो लोगों को जागरूक करने में काफी सफलता मिली.  स्वास्थ्य विभाग की टीम के प्रयासों के कारण 45 से 59 वर्ष और  60 वर्ष  से अधिक आयुवर्ग को 100 प्रतिशत वैक्सीन लगाई जा चुकी है. आगे आने वाले कुछ दिनों में 18 से 44 वर्ष के आयु वर्ग को वैक्सीन की पहली डोज लगाई जाएगी.

काजा का कौमिक गांव.

इंटरनेट की दिक्कत



खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ. तेंजिन नोरबू ने कहा कि 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी वरिष्ठ नागरिकों को पहली और दूसरी डोज लग चुकी है. काजा खंड की कुल 13 पंचायतों में से 10 इंटरनेट से जुड़ी नहीं है. ऐसे में आनलाइन वैक्सीन प्रक्रिया करने में दिक्कत न आए, इसलिए काजा में ऑफलाइन काम करते थे. काजा, लोसर, रंगरीक पंचायत में इंटरनेट की सुविधा से जुड़ी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज