• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • Lahaul Flash Flood: लाहौल में अब भी फंसे हैं 204 लोग, CM आज करेंगे हवाई दौरा

Lahaul Flash Flood: लाहौल में अब भी फंसे हैं 204 लोग, CM आज करेंगे हवाई दौरा

लाहौल में तीन पुल गिर गए हैं और बड़ी संख्या में लोग फंस गए हैं.

लाहौल में तीन पुल गिर गए हैं और बड़ी संख्या में लोग फंस गए हैं.

Lahaul Spiti Flash Flood: उपायुक्त ने बताया कि बाढ़ के चलते जो 72 श्रद्धालु फंस गए थे, वे सभी सुरक्षित हैं और उन्हें त्रिलोकनाथ मंदिर परिसर में ठहराया गया है. मंदिर ट्रस्ट की ओर से उनके रहने और खाने की व्यवस्था हो रही है.

  • Share this:

    केलांग. हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीति (Lahaul Spiti) में भारी बारिश के बाद अब भी लोग फंसे हुए हैं. इलाके में पुलों के बह जाने से संपर्क कट गया है और ऐसे में स्थानीय लोगों के अलावा, बड़ी संख्या में टूरिस्ट फंसे हुए हैं. हालांकि राहत की बात यह है कि मनाली लेह हाईवे केलांग के पास से बहाल हो गया है और यहां बड़ी संख्या में फंसे हुए लोगों ने राहत की सांस ली है.

    लाहौल के उदयपुर क्षेत्र में भारी बारिश और बाढ़ के चलते बहे कुल 10 लोगों में से 7 लोगों के शव सर्च और रेस्क्यू अभियान में मिल चुके हैं, जबकि 3 अन्य की तलाश की जा रही है. डीसी लाहौल-स्पीति नीरज कुमार ने बताया कि एनडीआरएफ की टीम इस कार्य में अभी भी जुटी हुई है. उन्होंने कहा कि उदयपुर को पांगी घाटी के साथ जोड़ने वाले मडग्रां पुल को बीआरओ की ओर से शुक्रवार तक बहाल करने के पूरे प्रयास किए जा रहे हैं. शांशा और थिरोट पुल तक जाने वाली क्षतिग्रस्त सड़क को भी पानी का स्तर कम होते ही बहाल कर दिया जाएगा.

    लाहौल स्पीति में कहां कंहा फंसे हुए हैं कितने लोग.

    जालहमा के लिए वैकल्पिक व्यवस्था
    उन्होंने कहा कि पूरी तरह से बह गए जाहलमा पुल के स्थान पर फिलहाल आवाजाही के लिए वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर रज्जू मार्ग और पैदल रास्ते के निर्माण को भी जल्द पूरा किए जाने की दिशा में कार्य किया जाएगा. उन्होंने कहा कि भारी बारिश और बाढ़ के कारण पूरी पट्टन घाटी प्रभावित हुई है. इस क्षेत्र में कृषि को नुकसान हुआ है और कृषि कार्य भी प्रभावित हुआ है. व्यवस्थाओं को भी बहाल करने में कार्य योजना के तहत कदम उठाए जा रहे हैं.

    72 श्रद्धालु फंस गए 

    उपायुक्त ने बताया कि बाढ़ के चलते जो 72 श्रद्धालु फंस गए थे, वे सभी सुरक्षित हैं और उन्हें त्रिलोकनाथ मंदिर परिसर में ठहराया गया है. मंदिर ट्रस्ट की ओर से उनके रहने और खाने की व्यवस्था हो रही है. उन्होंने कहा कि मडग्रां पुल बहाल होने के बाद जो श्रद्धालु पांगी क्षेत्र के हैं, वे आसानी से वापिस जा सकते हैं. अधिकतर श्रद्धालु कुल्लू जिला से संबंधित हैं. श्रद्धालुओं ने प्रशासन के समक्ष ये बात रखी है कि वे अपने वाहनों को फिलहाल यहीं छोड़ जाएंगे. सड़क और पुल बहाल होने के बाद वे इन वाहनों को वापस ले जाएंगे. इन श्रद्धालुओं की वापसी की भी व्यवस्था की जा रही है. डीसी ने बताया कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर शुक्रवार सुबह हेलीकॉप्टर के माध्यम से प्रभावित क्षेत्र का दौरा करेंगे और प्रभावित हुए लोगों के साथ भेंट करेंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज