हिमाचल के लाहौल स्पीति से फिल्म अभिनेत्री समेत 127 टूरिस्ट किए गए रेस्क्यू

मनाली लेह हाईवे पर लगातार लैंडस्लाइड हो रही है. इस वजह से बीते 24 घंटे में यह मार्ग दूसरी बार बंद हो गया है. मढ़ी के पास लैंडस्लाइड होने के बाद यह मार्ग बहाल कर दिया गया था, लेकिन बीती रात फिर लैंडस्लाइडिंग हुई और इसे बंद कर दिया गया.

News18 Himachal Pradesh
Updated: August 21, 2019, 10:57 AM IST
हिमाचल के लाहौल स्पीति से फिल्म अभिनेत्री समेत 127 टूरिस्ट किए गए रेस्क्यू
मंजू वारियर लाहौल स्पीति में शूटिंग कर रही थीं.
News18 Himachal Pradesh
Updated: August 21, 2019, 10:57 AM IST
हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश और बेमौसम बर्फबारी ने प्रदेश की कमर तोड़ दी है. जनजातीय जिला लाहौल स्पीति में बेमौसमी बर्फबारी के कारण छतड़ू में 127 पर्यटकों सहित मलयालम फिल्म यूनिट तीन दिन से फंसी थी, जिन्हें रेस्क्यू कर लिया गया है. सीएम जयराम ठाकुर ने इसकी जानकारी दी है. मलयालम अभिनेत्री मंजू वारियर सहित 30 क्रू-मेंबर्स को मिलाकर कुल 127 पर्यटकों को मनाली की ओर भेज दिया गया है. संभावना है कि सभी लोग बुधवार सुबह मनाली पहुंच जाएंगे. प्रशासन की ओर से दवाइयां और डॉक्टरों की टीम भी मौके पर भेजी गई थी.

सभी लोग सुरक्षित: डीसी
उपायुक्त जिला लाहौल स्पीति केके सरोच ने बताया कि जिला लाहौल स्पीति के छतडू में फंसे फ़िल्म यूनिट के सभी लोग सुरक्षित हैं. ये सभी बुधवार को शूटिंग पैकअप कर मनाली पहुंच जाएंगे. बता दें कि इससे पहले जिला लाहौल स्पीति प्रशासन के अधिकारी शूटिंग यूनिट को रेस्क्यू करने के लिए छतडू गए थे, लेकिन फिल्म यूनिट ने इनके साथ जाने से इंकार कर दिया था. डीसी लाहौल स्पीति ने कहा कि फ़िल्म यूनिट ने रेस्क्यू टीम से खाना और अन्य सामान पर्याप्त मात्रा में होने की बात कही थी.

हिमाचल की स्पीति घाटी से सैलानियों को निकाला गया है.
हिमाचल प्रदेश की स्पीति घाटी से सैलानियों को निकाला गया है.


ये बोले सीएम
सीएम जयराम ठाकुर ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि प्रदेश में अब तक बरसात के कारण 627 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है. मॉनसून सीजन 63 लोगों की जानें गई हैं. सबसे ज्यादा नुकसान 17 से 19 अगस्त के बीच हुआ है. प्रदेश में विभिन्न स्थानों पर फंसे 1600 लोगों को अब तक रेस्क्यू किया जा चुका है.

मंत्री को हेलिकॉप्टर से निकाला
Loading...

जनजातीय जिला लाहौल स्पीति में बीते तीन दिन से जनजातीय विकास एवं कृषि मंत्री डॉक्‍टर रामलाल मारकंडा काजा में फंसे थे, जिन्हें मंगलवार को सरकारी हेलिकॉप्टर से एयरलिफ्ट कर शिमला पहुंचाया गया है. शिमला में इन दिनों विधानसभा का मानसून सत्र चला हुआ है, जिसमें मारकंडा ने हिस्सा लेना शुरू कर दिया है.

मनाली-काजा सड़क मार्ग पर भी लैंडस्लाइडिंग हुई है.
मनाली-काजा सड़क मार्ग पर भी लैंडस्लाइडिंग हुई है.


घाटी में भारी नुकसान-मारकंडा
न्यूज 18 से खास बातचीत में डॉ. रामलाल मारकंडा ने कहा कि बेमौसमी बर्फबारी के कारण लाहौल स्पीति में भारी नुकसान हुआ है. नकदी फसल मटर, आलू और आइसवर्ग को काफी नुकसान पहुंचा है, जिसके आंकलन के आदेश दिए गए हैं. इन दिनों लोग अपने पालतू पशुओं को पहाड़ों पर चरने के लिए भेजते थे जो बेमौसमी बर्फबारी में फंसे हुए हैं. पालतू पशु जीवित हैं या नहीं इसकी अभी तक कोई रिपोर्ट नहीं है.

मनाली लेह हाईवे बंद
बता दें कि मनाली लेह हाईवे पर लगातार लैंडस्लाइड हो रही है. इस वजह से बीते 24 घंटे में यह मार्ग दूसरी बार बंद हो गया है. मढ़ी के पास लैंडस्लाइड होने के बाद यह मार्ग बहाल कर दिया गया था, लेकिन बीती रात फिर लैंडस्लाइडिंग हुई है और अब मार्ग बंद है.

ये भी पढ़ें : बारिश से नालागढ़ में 6वीं मौत, नदी में बहे युवक का शव मिला

हिमाचल विस का मॉनसून सत्र: शराब पर दूसरे दिन भी हुआ हंगामा

सुंदरनगर पुलिस ने 17.19 ग्राम चिट्टे संग पकड़ा युवक, गिरफ्तार

जब लाइसेंस रिन्यूअल के लिए लाइन में लगे SP सिरमौर अजय शर्मा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए केलांग से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 10:30 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...