Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    लाहौल के सेंटर स्कूल में कांट्रेक्ट भर्ती में धांधली, DC से शिकायत, प्रिंसिपल ‘लापता’

    केलांग का केंद्रीय स्कूल.
    केलांग का केंद्रीय स्कूल.

    उपायुक्त लाहौल स्पीति केके सरोच ने बताया कि ने स्थानीय उम्मीदवार सोनिका बौद्व ने शिकायत भेजी है. इसके आधार पर निष्पक्ष जांच-पड़ताल और प्रबंधन से जवाब तलब किया जाएगा.

    • News18Hindi
    • Last Updated: June 24, 2020, 10:25 AM IST
    • Share this:
    केलांग. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति के केलांग में केंद्रीय विद्यालय में कांट्रेक्ट टीचर भर्ती में धांधली को लेकर स्थानीय उम्मीदवारों ने उपायुक्त लाहौल स्पीति को शिकायत दर्ज करवाई. इसमें उम्मीदवारों ने आरोप लगाया है कि स्कूल प्रिंसिपल पर कांट्रेक्ट टीचर भर्ती में मैरिट लिस्ट को दरकिनार कर धांधली की गई है. उम्मीदवारों ने भर्ती में धांधली को लेकर उपायुक्त से उचित कार्रवाई की मांग की है.

    डीसी से की गई शिकायत

    स्थानीय उम्मीदवार सोनिका बोद्व, पदमिनी ठाकुर, अशिम भारद्वाज ने बताया कि कांट्रेक्ट टीचर भर्ती के लिए केंद्रीय विद्यालय में इंटव्यू दिए थे, जिसके बाद उनको विद्यालय प्रशासन की तरफ से कोई संपर्क नहीं किया गया है, लेकिन मैरिट लिस्ट को दरकिनार कर भर्ती की गई. उन्होंने कहा कि इसको लेकर डीसी लाहौल स्पीति से उचित कार्रवाई की मांग की है और भर्ती में धांधली को लेकर स्थानीय उम्मीदवारों को दरकिनार किया गया है. जिससे स्थानीय उम्मीदवारों  के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया गया है.



    ये भी आरोप
    अशिम भारद्वाज ने बताया कि कांस्टेक्ट भर्ती के तहत उन्हें 3 माह स्कूल प्रबंधन ने रखा और उसके बाद उन्हें यह बोल कर बाहर किया कि विद्यालय में कंप्यूटर शिक्षक की जरूरत नहीं है, जिसके बाद विद्यार्थियों से कंप्यूटर शिक्षा की फीस ली गई, लेकिन विद्यालय में कंप्यूटर शिक्षा नहीं दी जा रही, जिसको लेकर अभिभावकों ने प्रबंधन फीस वापिस करने कीमांग की है. प्राथमिक शिक्षिका और मैरिट लिस्ट सूची में शामिल उम्मीदवार पदमिनी ठाकुर ने बताया कि इंटव्यू के बाद मुझ़े भर्ती किया गया, लेकिन 2 माह के बाद प्रिसिंपल ने रेगुलर टीचर आने की बात कह कर बाहर कर दिया. हालांकि, रेगुलर टीचर नहीं आया और बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हुई है.

    इन लोगों ने बताया कि प्रिंसिपल भी डेढ माह से स्कूल से गायब है, जिसके चलते अभिभावकों ने सवाल खड़े किए है. कोरोना काल मे जहाँ पूरे देश में ऑनलाइन पढ़ाई हो रही है. वहीं, स्कूल प्रबधंन की नाकामी से बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है.

    यह बोले डीसी

    उपायुक्त लाहौल स्पीति केके सरोच ने बताया कि ने स्थानीय उम्मीदवार सोनिका बौद्व ने  शिकायत भेजी है. इसके आधार पर निष्पक्ष जांच-पड़ताल और प्रबंधन से जवाब तलब किया जाएगा.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज