लाइव टीवी

लाहौल घाटी : नियमित हेलीकॉप्टर उड़ान नहीं होने से आपातकालीन परिस्थिति से गुजर रहे लोगों की परेशानी बढ़ी
Keylong News in Hindi

News18 Himachal Pradesh
Updated: January 22, 2020, 4:22 PM IST
लाहौल घाटी : नियमित हेलीकॉप्टर उड़ान नहीं होने से आपातकालीन परिस्थिति से गुजर रहे लोगों की परेशानी बढ़ी
अब तक सितंगरी हेलीपैड के अंतर्गत आने वाले लोगों को मात्र एक उड़ान से संतोष करना पड़ा है.

लाहौल (Lahaul) में ऊंची चोटियों के साथ-साथ निम्न चोटियां भी बर्फ (Ice) के नीचे कई महीनों के लिए दब जाती हैं. घाटी के लिए संपर्क स्थापित कराने वाले तीनों हिम द्वार रोहतांग दर्रा, बारालाचा ला और कुंजम दर्रा बंद हो जाते हैं. ऐसे में घाटी से निकलने का विकल्प मात्र हेलीकॉप्टर (Helicopter) उड़ान ही रह जाता है.

  • Share this:
केलांग. लाहौल घाटी (Lahaul valley) के स्थानीय लोगों एवं घाटी में कार्यरत सरकारी कर्मचारियों के लिए सर्दियों के दौरान हेलीकॉप्टर सेवा (Helicopter service) अत्यंत महत्वपूर्ण होती है. हिमपात (Snowfall)शुरू होते ही लाहौल में ऊंची चोटियों के साथ-साथ निम्न चोटियां भी बर्फ के नीचे कई महीनों के लिए दब जाती हैं. घाटी के लिए संपर्क स्थापित कराने वाले तीनों हिम द्वार रोहतांग दर्रा, बारालाचा ला और कुंजम दर्रा बंद हो जाते हैं. ऐसे में घाटी से निकलने का विकल्प मात्र हेलीकॉप्टर उड़ान ही रह जाता है.

घाटी के लिए पर्याप्त हेलीकॉप्टर उड़ान नहीं

हर साल की भांति इस साल भी हवाई सेवा की पहली उड़ान सितंगरी हेलीपैड से 25 दिसंबर को आरंभ हो गई थी. अब तक सितंगरी हेलीपैड से कुल्लू जाने वालों की संख्या 250 पार कर चुकी है. इनमें से 6 मरीज भी हैं जिन्हें क्षेत्रीय अस्पताल केलांग के डॉक्टरों ने इलाज के लिए जोनल अस्पताल कुल्लू के लिए रेफर किए हैं. वहीं सैकड़ों की संख्या में लोग आपातकालीन कार्यों के चलते कुल्लू जाने के इच्छुक हैं, लेकिन घाटी के लिए पर्याप्त हेलीकॉप्टर उड़ान नहीं होने से हेलीकॉप्टर आवेदकों को खासी परेशानी हो रही है.

सितंगरी हेलीपैड से कुल्लू जाने वाले लोगों का आंकड़ा 250 की संख्या को पार किया




गत दिनों गंभीर रूप से बीमार सरकारी कर्मचारी को समय पर हेलीकॉप्टर सेवा नहीं मिलने के कारण निजी चौपर हायर करना पड़ा था. प्रधान अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ लाहौल-स्पीति मेघ सिंह प्रभुजी ने प्रदेश सरकार से घाटी के समस्त हेलीपैडों के लिए हेलीकॉप्टर उड़ान सुनिश्चित करने की गुहार लगाई है. जिला लाहौल-स्पीति कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष ज्ञालछन ठाकुर ने सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि प्रदेश सरकार व स्थानीय विधायक को लाहौल घाटी में रहने वाले लोगों की कोई चिंता नहीं है. उन्होंने घाटी के सभी हेलीपैडों में पर्याप्त व नियमित हेलीकॉप्टर की उड़ान कराने की मांग की है.

(लाहौल स्पीति से प्रेम लाल की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें - हिमाचल की 13 वर्षीय बेटी अलाइका को राष्ट्रीय बाल वीरता पुरस्कार

ये भी पढ़ें - सर्व देवता समिति ने नई कमेटी पर देव समाज को बांटने का लगाया आरोप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए केलांग से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 4:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर