vidhan sabha election 2017

कोटखाई गैंगरेप : आरोपी 9 पुलिस अधिकारियों-कर्मचारियों की न्यायिक हिरासत बढ़ी

G.S. Tomar | News18Hindi
Updated: December 7, 2017, 6:44 PM IST
कोटखाई गैंगरेप : आरोपी 9 पुलिस अधिकारियों-कर्मचारियों की न्यायिक हिरासत बढ़ी
पेशी के लिए जाते आईजी जैदी.
G.S. Tomar | News18Hindi
Updated: December 7, 2017, 6:44 PM IST
कोटखाई गैंगरेप और मर्डर केस में लॉकअप हत्याकांड में सीबीआई की ओर से आरोपी बनाए गए 9 पुलिस अफसरों और कर्मियों की न्यायिक हिरासत एक बार फिर से कोर्ट ने बढ़ा दी है. कोटखाई के पुलिस लॉकअप में संदिग्ध हत्या के मामले में पुलिस के 9 अधिकारी और कर्मचारी जेल की हवा खा रहे हैं.

वीरवार को सभी आरोपियों को सीजेएम रणजीत सिंह ठाकुर की अदालत में पेश किया गया. कोर्ट ने आरोपियों की न्यायिक हिरासत एक बार फिर बढ़ा दी है. 19 दिसबंर तक न्यायिक हिरासत बढ़ाने का फैसला न्यायाधीश ने सुनाया है.

25 नवबंर को सुनवाई के बाद आरोपियों को अब तक के लिए न्यायिक हिरासत पर भेजा गया है. सूरज हत्या मामले में न्यायिक हिरासत काट रहे सभी आरोपी व्यक्तिगत तौर पर कोर्ट में पेश हुए. हालांकि आज भी आरोपियों की ओर से किसी भी वकील ने पैरवी नहीं की.

आरोपियों के वकीलों का जिला बार एसोसिएशन से विवाद चल रहा है, जिसके चलते उन्हें पैरवी करने की अनुमति नहीं मिल सकी.

ये है मामला
चार जुलाई को कोटखाई के छात्रा स्कूल से लौटते वक्त लापता हो गई थी. इसके बाद छह जुलाई को कोटखाई के जंगल में बिना कपड़ों के उसकी लाश मिली थी. छात्रा की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई थी. मामले में छह आरोपी पकड़े गए थे.

इनमें राजेंद्र सिंह उर्फ राजू, हलाइला गांव, सुभाष बिस्ट (42) गढ़वाल, सूरज सिंह (29) और लोकजन उर्फ छोटू (19) नेपाल और दीपक (38) पौड़ी गढ़वॉल के कोटद्वार से है. इनमें से सूरज की कोटखाई थाने में 18 जुलाई की रात को हत्या कर दी गई थी.

आरोप है कि राजू की सूरज से बहस हुई और उसके बाद राजू ने उसकी हत्या कर दी. सीबीआई ने इन दोनों मामलों में केस दर्ज किया है.

आईजी, एसपी, डीएसपी समेत पुलिस एसआईटी पर षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया गया है. मामले के पांच आरोपी फिलहाल जमानत पर हैं. वहीं, सूरज हत्याकांड में आईजी जैदी समेत 9 पुलिस वाले अभी न्यायिक हिरासत में हैं.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर