• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • उपलब्धि: 6 पर्वतारोहियों ने 160 KM पिन पार्वती दर्रा 6 दिन में पार कर बनाया रिकॉर्ड, फहराया तिरंगा

उपलब्धि: 6 पर्वतारोहियों ने 160 KM पिन पार्वती दर्रा 6 दिन में पार कर बनाया रिकॉर्ड, फहराया तिरंगा

कुल्लू में 6 पर्वतारोहियों ने 160 किलोमीटर दुर्गम पिन पार्वती पास दर्रे को कम समय में पार कर बनाया रिकॉर्ड.

कुल्लू में 6 पर्वतारोहियों ने 160 किलोमीटर दुर्गम पिन पार्वती पास दर्रे को कम समय में पार कर बनाया रिकॉर्ड.

Kullu News: छह दिन में 160 किलोमीटर पिन पार्वती दर्रा फतेह करने पर कुल्लू के युवाओं का नाम अब 'वंडर अमेजिंग क्रिएटिव बुक ऑफ रिकार्ड' में दर्ज किया गया है.

  • Share this:

कुल्लू. हिमाचल प्रदेश की पार्वती घाटी में खतरनाक माने जाने वाले पिन पार्वती दर्रा (5319 मीटर) ट्रैक को कुल्लू के युवाओं ने कम समय में पार कर रिकॉर्ड बनाया है. 160 किलोमीटर लंबा यह ट्रैक बरशैणी से शुरू होता है और वापस इसी गांव तक आने में करीब 12 दिन का समय लगता है. लेकिन छह युवा पर्वतारोहियों ने इस ट्रैक को 6 दिन में ही पार कर रिकॉर्ड बनाया है. दल में पार्वती घाटी से संबंध रखने वाली एक लड़की भी शामिल थी. अभियान में कुल्लू के 5 और एक यूपी के सहारनपुर से युवक शामिल था. कम समय में पिन पार्वती दर्रा फतेह करने पर युवा पर्वतारोहियों का नाम अब वंडर अमेजिंग क्रिएटिव बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज किया गया है.

युवा पर्वतारोहियों ने इस रिकॉर्ड के साथ ही देशभक्ति भावना, सद्भावना, पर्यावरण संरक्षण और नशे से दूर रहने का संदेश दिया है. इस अभियान में शामिल 6 पर्वतारोहियों के दल ने 6 दिन में बरशौणी से पिन पार्वती दर्रा पार कर लिया. पर्वतारोहण अभियान 11 अगस्त को बरशैणी गांव से 11 बजे सुबह शुरू हुआ था, पर्वतारोहियों का दल रिकॉर्ड समय में पिन पार्वती दर्रा को पार कर 16 अगस्त शाम 6 बजे वापस बरशैणी गांव पहुंच गया. इस अभियान का मुख्य उद्देश्य पिन पास पर स्वतंत्रता दिवस के मौके पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने का था, जिसमें उन्हें सफलता हासिल हुई.

पर्वतारोहियों का दल के प्रमुख डीआर सुमन ने बताया कि WAC बुक ऑफ रिकॉर्ड इंटरनेशल द्वारा “फास्टेस्ट सुमित पिन पास (5319 मीटर) इन ऑन्ली 16 डेज़ विद 160 किमी ट्रेक” शीर्षक से इस अभियान को नाम दिया गया था. उन्होंने बताया कि टीम में कुल 6 सदस्य थे, जिसमें 5 हिमाचल प्रदेश से तथा 1 यूपी के सहारपुर से था. उन्होंने कहाकि पिन पर्वत ट्रेकिंग टूर कसोल से मनानली 12 दिन है. लेकिन हम 6 लोगों ने बरशौणी से पिन पार्वती से बरशौणी 6 दिन में 160 किलोमीटर ट्रेकिंग कर रिकॉर्ड बनाया है.

बेहद खतरनाक ट्रेकिंग रूट पर चले 

पर्वतारोहण दल के प्रमुख डीआर सुमन बताया कि यह ट्रेकिंग रूट्स बहुत खतरनाक है और पिन पार्वती का पूरा रास्ता खराब हो चुका है और मौसम भी खराब था, जिससे इस ट्रेकिंग रूट्स में दिक्कतों का सामना भी करना पड़ा. पिन पार्वती में 15 अगस्त नेशनल फ्लैग सेरेमनी कर लोगों को देशभक्ति भावना, सद्भावना, पर्यावरण संरक्षण और नशे से दूर रहने के लिए संदेश दिया है. उन्होंने बताया कि हमारे साथ सहारनपुर से रिहान अली भी थे, जो पहले भी फ्रेंडशिप पीक और यूनम पीक में नेशनल फ्लैग सरेमनी कर चुके हैं और इस बार पिन पार्वती में तीसरी बार नेशनल फ्लैग सेरेमनी में भाग ले रहे हैं.

उन्होंने बताया कि इस पार्वतारोहण दल में चुन्नीलाल महंत, शेषराम, छापेराम, इन्द्रादेवी तथा रिहान अली शामिल थे. उन्होंने कि इस अभियान का मुख्य उद्देश्य आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य पर युवाओं को देशभक्ति भावना, सद्भावना, नशे व संबंधित विकारों से दूर रहना, पर्यावरण संरक्षण को लेकर हमेशा सजग रहना था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज