Assembly Banner 2021

औट बाजार की सभी दुकानें प्रशासन ने तोड़ी, व्यापारी परेशान

20 साल पहले प्रशासन ने तैयार किया था औट बाजार.

20 साल पहले प्रशासन ने तैयार किया था औट बाजार.

बीस सालों तक औट बाजार में अपनी रोजी-रोटी कमा रहे 32 परिवारों को अब अपनी और अपने परिवार की चिंता सताने लगी है. औट बाजार में बनी केशव माधव मार्केट को लोगों ने माननीय कोर्ट के आदेश पर खाली कर दिया और प्रशासन ने एसडीएम सदर मंडी पूजा चौहान के देखरेख में दुकानों को तोड़ भी दिया है.

  • Share this:
बीस सालों तक कुल्लू के औट बाजार में अपनी रोजी-रोटी कमा रहे 32 परिवारों को अब अपनी और अपने परिवार की चिंता सताने लगी है. औट बाजार में बनी केशव माधव मार्केट को लोगों ने माननीय कोर्ट के आदेश पर खाली कर दिया और प्रशासन ने एसडीएम सदर मंडी पूजा चौहान के देखरेख में दुकानों को तोड़ भी दिया है. कारोबारियों के कहना है कि रोजगार छीन जाने के बाद अब वे कहां जाएंगे. औट में अवैध करार दी गई दुकानों का उद्घाटन 20 साल पहले तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष और तत्कालीन उपायुक्त मंडी ने किया था.

पिछले बीस साल से 32 कारोबारी इस मार्केट का किराया राजस्व विभाग मंडी को दे रहे हैं. कारोबारियों का कहना है कि केशव माधव मार्केट प्रशासन और सरकार ने बनाई थी. उन्होंने तो इस मार्केट को केवल किराये पर लिया था और आज प्रशासन की गलती का खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ रहा है.

कारोबारियो का कहना है कि वे और उनके परिवार सड़कों पर आ गए हैं. लोगों ने प्रशासन से मांग की कि औट बाजार में ही एक कांप्लेक्स का निर्माण किया जाए. जहां पर उन्हें बसाया जाए. जब तक कांप्लेक्स नहीं बन जाता तब तक उन्हें किसी दूसरे स्थान पर कारोबार करने की अनुमति दी जाए.



कारोबारियों का कहना है प्रशसान ने जेसीबी चलाकर उनकी दुकानों को तोड़ दिया था, लेकिन केशव माधव मार्केट के नीचे तोड़ी गई दुकानों के नीचे सरकारी कार्यालय चल रहे हैं. इस पर प्रशासन आंख बंद करके क्यों बैठा है. क्या इन पर कोर्ट के आदेश लागू नहीं होते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज