बाढ़ में बैली ब्रिज को हुए नुकसान पर भाजपा नेता ने सरकारी तंत्र को कोसा

Tulsi Bharti | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 19, 2019, 11:53 PM IST
बाढ़ में बैली ब्रिज को हुए नुकसान पर भाजपा नेता ने सरकारी तंत्र को कोसा
भूतनाथ और बैली ब्रिज की मरम्मत नहीं हुई तो दशहरा उत्सव के दौरान ट्रैफिक जाम से निपटना होगा मुश्किल

भूतनाथ ब्रिज के अब तक ठीक न होने और बैली ब्रिज के एक छोर के डैमेज होने के बाद अब दशहरा सिर पर है. ऐसे में इन ब्रिजों के ठीक नहीं होने से उत्सव के दौरान शहर में यातायात समस्या उत्पन्न होगी.

  • Share this:
कुल्लू के भूतनाथ ब्रिज (Bhootnath Bridge) में दरारें आने और अब बैली ब्रिज (Bailey Bridge) के एक छोर को नुकसान होने से भाजपा (BJP) के वरिष्ठ नेता महेश्वर सिंह (Maheshwar Singh)  तल्ख हो गए हैं. उन्होंने भूतनाथ ब्रिज को ठीक करने में हो रही देरी के लिए सरकारी तंत्र (Government machinery) को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि भूतनाथ ब्रिज जनवरी में डैमेज हुआ था और इसपर यातायात बंद कर दिया गया. लेकिन इस ब्रिज को ठीक करने के लिए अभी तक टेंडर (Tender) प्रक्रिया भी पूरी नहीं हो पाई है. उन्होंने कहा कि इस ब्रिज के डैमेज होने के बाद अखाड़ा बाजार में बैली ब्रिज का निर्माण (Bridge Construction) किया गया. उन्होंने कहा कि जब बैली ब्रिज का निर्माण किया जा रहा था तब उन्होंने अधिकारियों को तीन-चार बार यह सुझाव दिया था कि वे ब्रिज को ठीक से तैयार करें. लेकिन अधिकारियों ने उनकी एक नहीं सुनी. उन्होंने कहा कि यह उसीका नतीजा है कि इस बाढ़ में इस बैली ब्रिज का एक छोर डैमेज हो गया है.

प्रदेश सरकार का बचाव करते हुए महेश्वर सिंह ने कहा कि सरकार तभी किसी कार्य को आगे बढ़ा सकती है जब अधिकारी ठीक से काम करें.


डैमेज ब्रिज को बनाने में लगेंगे 30 लाख

उन्होंने कहा अब इस ब्रिज के डैमेज हुए छोर को ठीक करने के लिए विभाग ने 30 लाख रुपए का एस्टीमेट भेजा है. उन्होंने कहा कि पुल का निर्माण किए जाने के वक्त ही अगर सात से आठ लाख रुपए और खर्च कर पुल के अभी डैमेज हुए हिस्से को ठीक से बनाया गया होता तो यह नौबत नहीं आती. 30 लाख का एस्टीमेट बनाने की जरूरत नहीं पड़ती. हालांकि उन्होंने प्रदेश सरकार का बचाव करते हुए कहा कि सरकार तभी किसी कार्य को आगे बढ़ा सकती है जब अधिकारी ठीक से काम करें.

महेश्वर सिंह ने कहा कि भूतनाथ ब्रिज के अब तक ठीक न होने और बैली ब्रिज के एक छोर के डैमेज होने के बाद अब दशहरा (Dussehra) सिर पर है. ऐसे में इन ब्रिजों के ठीक नहीं होने से उत्सव के दौरान यातायात जाम की समस्या से जूझना पड़ेगा. उन्होंने सरकार से भी आग्रह किया कि इस तरह के कार्य को प्राथमिकता के आधार पर किया जाना चाहिए. इन मामलों को लेकर उन्होंने इशारों इशारों में कुल्लू के विधायक पर भी निशाना साधा.

ये भी पढ़ें - आफत की बारिश : सोलन में मकान गिरने से पिता-पुत्र की मौत

ये भी पढ़ें - तीन दिन की बारिश में कांगड़ा को हो चुका 55 करोड़ का नुकसान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कुल्‍लू से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2019, 11:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...