'किसानों को प्राकृतिक खेती के लिए प्रेरित करने के लिए 25 करोड़ का बजट प्रावधान'

कृषि विभाग और आतमा परियोजना के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस एक दिवसीय किसान मेले में कृषि, सूचना प्रौद्योगिकी और जनजातीय विकास मंत्री डॉ. रामलाल मारकंडा ने कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों के लिए ‘प्राकृतिक खेती, खुशहाल किसान’ नाम से नई योजना आरंभ की है.

Tulsi Bharti | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 8, 2018, 4:08 PM IST
'किसानों को प्राकृतिक खेती के लिए प्रेरित करने के लिए 25 करोड़ का बजट प्रावधान'
डॉ. राम लाल मारकंडा,कृषि मंत्री,हिमाचल सरकार
Tulsi Bharti | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 8, 2018, 4:08 PM IST
हिमाचल प्रदेश में कुल्लू जिला के भुंतर सब्जी मंडी परिसर में जिला स्तरीय किसान मेले का आयोजन किया गया. कृषि विभाग और आतमा परियोजना के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस एक दिवसीय किसान मेले में कृषि, सूचना प्रौद्योगिकी और जनजातीय विकास मंत्री डॉ. रामलाल मारकंडा ने मुख्य अतिथि के रूप में भाग लिया.

इस अवसर पर बड़ी संख्या में उपस्थित किसानों और कृषि वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए डॉ. मारकंडा ने कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों के लिए ‘प्राकृतिक खेती, खुशहाल किसान’ नाम से नई योजना आरंभ की है. इसके लिए चालू वित वर्ष में 25 करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान किया गया है. इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को जहरमुक्त खेती के लिए प्रेरित करने के साथ-साथ उनकी आय को दोगुणा करना भी है.

कृषि मंत्री ने कहा कि प्रदेश में किसानों को बेहतर विपणन सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए 19 नई सब्जी मंडियों का निर्माण किया जाएगा. इन सभी मंडियों के लिए विश्व बैंक के माध्यम से बजट मुहैया करवाया जा रहा है. डॉ. मारकंडा ने कहा कि कुल्लू जिले की सभी सब्जी मंडियों को आधुनिक सुविधाओं से जोड़ने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं.

डॉ. मारकंडा ने बताया कि भुंतर सब्जी मंडी की भूमि हस्तांतरण प्रक्रिया अंतिम चरण में है. भूमि हस्तांतरण के बाद इस मंडी का आधुनिकीकरण कार्य तुरंत आरंभ कर दिया जाएगा. उन्होंने बताया कि शाट सब्जी मंडी में 24 दुकानों के साथ किसान भवन का निर्माण भी किया जाएगा.

कुल्लू जिला में मिट्टी के परीक्षण कार्य को गति प्रदान करने के लिए विभाग को अत्याधुनिक वैन उपलब्ध करवाई जाएगी. इस अवसर पर पूर्व सांसद महेश्वर सिंह ने भी अपने विचार रखे तथा किसानों को दी जाने वाली सुविधाओं पर चर्चा की.

कृषि उपनिदेशक आरसी भारद्वाज ने विभाग की योजनाओं और विभिन्न उपलब्धियों की जानकारी दी. आतमा परियोजना के अधिकारी राजपाल शर्मा ने किसान मेलों के उद्देश्य पर प्रकाश डाला.

यह भी पढ़ें: सऊदी अरब में फंसे लोग सुरक्षित, जल्द लगाए जाएंगे वापस- सीएम
Loading...

भगवान हनुमान को दलित बताकर वोट लेने का प्रपंच कर रही है बीजेपी: प्रेम कौशल

रोज-रोज का झगड़ा ऐसा बढ़ा कि बाप ने बेटे की ली जान, बाप गिरफ्तार, बड़ा भाई फरार
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर