कुल्लू: Amazon कंपनी के कर्मी से साइबर ठगी, डिस्कवरी चैनल का कर्मचारी बताने वाला गिरफ्तार

कुल्लू पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.
कुल्लू पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

Cyber Crime in Kullu: कुल्लू पुलिस ने मनाली के एरिया से आरोपी को गिरफ्तार किया और पूछताछ पर उसने अपना नाम अरविंद बताया और आधार कार्ड भी दिखाया.

  • Share this:
कुल्लू. हिमाचल में ऑनलाइन ठगी (Online Fruad) के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. कुल्लू पुलिस ने साइबर क्राइम (Cyber Crime) का एक नए तरह का अपराध का पर्दाफाश किया है. मामले में खुलासा हुआ है कि आरोपी खुद को डिस्कवरी चैनल कर्मचारी बताता था, जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है.

ऐसे की ठगी

एसपी कुल्लू गौरव सिंह ने बताया कि पुलिस थाना मनाली में एक शिकायतकर्ता ने रिपोर्ट दर्ज करवाई थी  कि वो अमेजन कंपनी में मनाली में स्थित ऑफिस में डिलीवरी ब्वॉय है. करीब 20 से 25 दिन पहले एक शख्स आया और उसने कोई लैपटॉप ऑनलाइन ऑर्डर कर रखा है. डिलीवरी ब्वॉय ने लैपटॉप लेने के एवज में कैश देने बात की तो आदमी ने कहा कि उसके पास अभी कैश नहीं है और ना ही वह कोई गूगल पे इत्यादि चलाता है, परंतु वह नेट बैंकिंग से डिलीवरी बॉय को ₹30000 की रकम जो लैपटॉप की एवज में दे सकता है. डिलीवरी ब्वॉय ने अपना बैंक अकाउंट उसे दे दिया. लड़के ने ₹30000 का एक मैसेज डिलीवरी ब्वॉय के मोबाइल पर भिजवाया, जिसमें लिखा था कि ₹30000 आपके खाते में जमा हो गए हैं. इसके बाद आरोपी लैपटॉप लेकर चला गया.



ऐसे हुआ खुलासा
शाम के समय जब कंपनी ने हिसाब मांगा तो डिलीवरी बॉय ने सारा हिसाब किया और जब पैसे निकालने लगा तो पाया कि उसके खाते में तो वह पैसा आए ही नहीं थे. वह देख कर हैरान हो गया कि मैसेज आया है लेकिन पैसा नहीं आए तो उसे लगा कि शायद इसका मोबाइल काम नहीं कर रहा है फिर उसने बैंक में जाकर पता किया एटीएम से पैसे निकालने की कोशिश की और पाया कि उसके खाते में ₹30000 आए नहीं है. बाद में पुलिस में रिपोर्ट कर दी. साइबर पुलिस ने जब चेक किया तो पाया कि जो मैसेज डिलीवरी ब्वॉय को पैसे का भेजा गया था वह फर्जी है और एक ऐप से नकली तैयार किया गया है.



पुलिस ने आरोपी को पकड़ा

कुल्लू पुलिस ने मनाली के एरिया से आरोपी को गिरफ्तार किया और पूछताछ पर उसने अपना नाम अरविंद बताया और आधार कार्ड भी दिखाया.  आरोपी का असली नाम सौरव मित्रा, नाडिया वेस्ट बंगाल (30) है. पूछताछ में पता चला है कि यह एक बहुत बड़ा ठग है और साइबर क्राइम का मास्टर है उसने बिहार में एक लड़के के साथ 8 लाख रूपए की ठगी की है. खुद को डिस्कवरी चैनल का एंपलाई बताता है और डिस्कवरी चैनल के नाम पर भी ठगी करता है. शिमला में भी डिस्कवरी चैनल के लिए लोगों को काम करने के लिए धोखाधड़ी से  शूट करवाए जो चितकुल में भी करवाए गए और उन लोगों का भी 3 लाख 30 हजार रुपये ठगे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज