लाइव टीवी

मनाली से लेह तक 3 सुरंगें: नॉर्वे से लाए संयत्र से सर्वे कर तलाशी जा रही संभावनाएं

Tulsi Bharti | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 11, 2019, 1:59 PM IST
मनाली से लेह तक 3 सुरंगें: नॉर्वे से लाए संयत्र से सर्वे कर तलाशी जा रही संभावनाएं
मनाली: नार्वे से लाए गए संयत्र से हवाई सर्वे किया जा रहा है.

टर्मिनल मैनेजर रवि श्रीवास्तव ने बताया कि मनाली-लेह के बीच में ऑल वेदर कनेक्टिविटी नहीं है. सर्दियों में बर्फबारी के कारण मनाली-लेह सड़क मार्ग बंद रहता है. हवाई सर्वे के लिए विदेश से टेक्निकल सपोर्ट लिया गया है. पिछले 2 दिन से लेकर इंडियन एयरपोर्ट की टीम. एनएचआईडीसीएल के अधिकारी ट्रायल कर रहे हैं.

  • Share this:
कुल्लू. भारत (India), चीन, पाकिस्तान (Pakistan) की सीमाओं को सुरक्षा (‌Border Security) की दृष्टि से सुदृढ़ करने के लिए रक्षा मंत्रालय, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने एनएचआईडीसीएस और एयरफोर्स के सहयोग से मनाली से लेह (Manali to Leh) के बीच ऑल वैदर रोड कनेक्टिविटी के अहम कदम उठा है.

मनाली से लेह तक बर्फ (Snow) से लकदक इलाकों में प्रस्तावित प्रोजेक्ट पर राष्ट्रीय राजमार्ग संरचना विकास निगम लिमिटेड ने एयरफोर्स के एमआई-17 के हेलिकॉप्टर से हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) और लेह को जोड़ने के लिए प्रस्तावित 3 टनल निर्माण के लिए भू-गर्भ सर्वेक्षण शुरू किया है. नार्वे से एयरवोर्नप इलेक्ट्रोमैग्नेटिक एंटीना से ज्योग्राफिकल सर्वे (Geographical Survey) किया जा रहा है. इसमें एयरफोर्स की टीम सहित विदेशी टेक्निकल इंजीनियरों ने 2 दिन में सफल ट्रायल किया.

दो सप्ताह तक सर्वे
2 सप्ताह तक मनाली से लेह के बीच में एयरवोर्नप इलेक्ट्रोमैग्नेटिक एक्यूपमेंट से ज्योग्राफिकल सर्वे करेंगे. इसके लिए कुल्लू के भुंतर एयरपोर्ट अथॉरिटी सहयोग कर रही है. 3 दर्रो के अंदर नॉर्वे से लाए गए विदेशी संयत्र से पहाड़ी के करीब 800 मीटर तक स्कैनिंग की जा सकेगी. इसमें पहाड़ी के अंदर रॉक, मिट्टी, पानी जैसे तत्वों को स्कैनिंग कर टनल बनाने के लिए फिजिबिलिटी चेक की जाएगी. यह संयंत्र डेढ क्विंटल है. इसे एमआई-17 हेलिकॉप्टर से लटकाया गया है और सर्वे जा रहा है. 2 सप्ताह तक लगातार मनाली से शिंकुला, तंगलंगला,बारालचला में सर्वे होगा.

यह बोले एयरपोर्ट अधिकारी
भुंतर एयरपोर्ट के निदेशक नीरज कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि 3 टनल बनाने के लिए संभावनाएं तलाशी जा रही हैं. भू-गर्भ सर्वे किया जा रहा है. हेलिकॉप्टर में विदेशी एंटीना लटकाया गया है. सर्वे करीब 2 सप्ताह तक चलेगा.

लेह से मनाली तक ऑल बैदर कनेक्टिविटी नहींटर्मिनल मैनेजर रवि श्रीवास्तव ने बताया कि मनाली-लेह के बीच में ऑल वेदर कनेक्टिविटी नहीं है. सर्दियों में बर्फबारी के कारण मनाली-लेह सड़क मार्ग बंद रहता है. हवाई सर्वे के लिए विदेश से टेक्निकल सपोर्ट लिया गया है. पिछले 2 दिन से लेकर इंडियन एयरपोर्ट की टीम. एनएचआईडीसीएल के अधिकारी ट्रायल कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें: हिमाचल में मिड-डे मील के दौरान जातीय भेदभाव का आरोप, VIDEO वायरल, FIR

हैदराबाद एनकाउंटर पर खली के सवाल, देश में लाखों रेप हुए, कितनों को गोली मारी?

इसी माह रिटायर होंगे 5 IAS-HAS, हिमाचल सरकार को खलेगी अधिकारियों की कमी!

राजनीतिक जीवन में पहली बार देखा महंगाई का ऐसा रौद्र रूप: वीरभद्र सिंह

नगर परिषद मंडी पर EPFO की बड़ी कार्रवाई, रडार पर शिमला के 80 होटल

रोहतांग दर्रा बहाल होने के बाद भी वाहनों की आवाजाही पर रोक, फिसलन बनी वजह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कुल्‍लू से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 1:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर