कुल्लू के लोरन में एक कमरे के जर्जर मकान में छह सदस्यीय परिवार रहने को मजबूर

Arun Garg | ETV Haryana/HP
Updated: September 17, 2017, 1:29 PM IST
कुल्लू के लोरन में एक कमरे के जर्जर मकान में छह सदस्यीय परिवार रहने को मजबूर
गोपाल को है प्रशासन से मदद की दरकार
Arun Garg | ETV Haryana/HP
Updated: September 17, 2017, 1:29 PM IST
हिमाचल प्रदेश के कुल्लू शहर के लोरन में एक परिवार के छह सदस्य एक कमरे के जर्जर घर में जीवन जीने को मजूबर है. लोरन निवासी गोपाल की पत्नी और बच्चे मानसिक रूप से अक्षम हैं और माता-पिता अस्पताल में दाखिल है.

गोपाल मजदूरी करके अपना और परिवार का पेट चला रहा है. गोपाल की माली हालत को देखकर उसके पड़ोसी भी उसकी मदद करते रहते हैं. गोपाल को अब प्रशासन और सरकार से मदद की दरकार है. गोपाल को घर बनाने के लिए डेढ़ लाख रुपये भी मंजूर हुए हैं.

सरकार से मदद योजना के तहत लगाई गई शर्त के कारण गोपाल को योजना का लाभ नहीं मिल रहा है. योजना के तहत घर के पीलर खड़े होने और काम शुरू होने के बाद पहली किस्त मिलेगी. गोपाल को खाने के लाले पड़े हैं, ऐसे में वह घर का काम कैसे शुरू करे? समाजसेवी संस्था कार सेवा दल भी गोपाल को राशन मुहैया करवा रहा है.

कुल्लू कार सेवा दल के अध्यक्ष मनदीप सिंह ने बताया कि गोपाल की हालत काफी खराब है. उन्होंने बताया कि कार सेवा दल को जैसे ही इस परिवार के बारे में पता चला वे उनकी मदद को तैयार हो गए. इस परिवार को जरूरी का सामान भी दिया गया है और घर के महीने का राशन भी संस्था इस परिवार को देगी. प्रतिदिन एक लीटर दूध भी इस परिवार को संस्था की ओर से दिया जाएगा.
First published: September 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर