कुल्लू: 4 बच्चों की जंगली फल खाने से तबीयत बिगड़ी, सड़क किनारे मिले बेहोश
Kullu News in Hindi

कुल्लू: 4 बच्चों की जंगली फल खाने से तबीयत बिगड़ी, सड़क किनारे मिले बेहोश
कुल्लू अस्पताल में बच्चे भर्ती किए गए हैं.

परिजनों को सूचना मिलते ही चारों को सैंज अस्पताल ले जाया गया. प्राथमिक उपचार के बाद चारों को सैंज से कुल्लू के क्षेत्रीय अस्पताल भेजा गया है, जहां पर डाक्टर इनका ईलाज कर रहे है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
कुल्लू. हिमाचल प्रदेश के कुल्लू (Kullu) के बंजार उपमंडल की सैंज घाटी के जंगला में चार बच्चों की जहरीला जंगली फल खाने से तबीयत खराब हो गई है, जिसके बाद 4 नौनिहालों को सैंज घाटी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक उपचार के बाद डाक्टरों ने क्षेत्रीय अस्पताल (Hospital) कुल्लू रेफर किया. 108 एंबुलेंस में लाए गए चारों बच्चों का क्षेत्रीय अस्पताल में ईलाज चल रहा है.

जानकारी के मुताबिक, चारों बच्चों की उम्र चार से नौ साल के बीच है. यह चारों घर से खेलने के लिए गए थे. बाद में जंगली फ्रूट खाने से इन चारों की तबीयत अचानक खराब हो गई. परिजनों को सूचना मिलते ही चारों को सैंज अस्पताल ले जाया गया. प्राथमिक उपचार के बाद चारों को सैंज से कुल्लू के क्षेत्रीय अस्पताल भेजा गया है, जहां पर डाक्टर इनका ईलाज कर रहे है.

ये हुए बीमार
बीमार बच्चों की पहचान जंगला निवासी ताराचंद के दो बेटों पवन और गौरव और प्रकाश के बेटों वंशु और यशू के रूप में हुई है. सीएमओ कुल्लू डॉक्टर सुशील चंद्र ने बताया 108 के माध्यम से सूचना मिली थी कि 4 छोटे बच्चों ने जंगली फ्रूट खाने के बाद तबियत खराब हुई है. इसके बाद बच्चों को सैंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक उपचार के बाद कुल्लू अस्पताल लाया. बच्चों की हालत खतरे बाहर है.



कुल्लू अस्पताल में भर्ती बच्चे.
कुल्लू अस्पताल में भर्ती बच्चे.




यह बोले पिता
बीमार बच्चों के परिजन माघु राम ने बताया कि शेंशर पंचायत के गांव में दोपहर को बच्चों घर से बाहर निकले थे. दो बच्चे उनके छोटे भाई के हैं और दो भांजे हैं, परिजनों ने जब इन बच्चों को सड़क किनारे देखा तो उल्टी, दस्त और खांस रहे थे. तुरंत डाक्टरों को दिखाया, जिसके बाद कुल्लू अस्पताल के लिए रैफर किया जंगली फल ज्यादा खाने से तबीयत खराब हुई.

ये भी पढ़ें: VIDEO: जब क्वारंटाइन सेंटर में SDM ने गाया गाना,‘ बार-बार दिन ये आए...’

PPE किट घोटाला: विक्रमादित्य के बाद अब आश्रय ने मांगा CM जयराम से इस्तीफा

हिमाचल में मंडी सहित 91 तहसीलों में बंदर वर्मिन घोषित, मारने की मंजूरी
First published: May 29, 2020, 8:30 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading