होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /

डिफॉल्टरः हिमाचल का जल शक्ति विभाग 2 साल से नहीं चुका रहा करोड़ों रुपये का बिजली बिल, मिला नोटिस

डिफॉल्टरः हिमाचल का जल शक्ति विभाग 2 साल से नहीं चुका रहा करोड़ों रुपये का बिजली बिल, मिला नोटिस

हिमाचल में बिजली बिल नहीं चुका रहा जल शक्ति विभाग.

हिमाचल में बिजली बिल नहीं चुका रहा जल शक्ति विभाग.

Electricity Bill Defaulters: सबसे ज्यादा आईपीएच डिवीजन कुल्लू का 1 करोड़ रुपये और आईपीएच डिवीजन थलौट का 50 लाख रुपये बिजली बिल पेंडिंग है. इसके अलावा, आईपीएच डिवीजन मनाली और आईपीएच डिवीजन केलांग का करीब 20 लाख रुपये बिल विभाग ने नहीं चुकाया है.

अधिक पढ़ें ...

कुल्लू. हिमाचल प्रदेश में कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह अक्सर सुर्खियों में रहते हैं. वैसा ही हाल उनके महकमे का है. जल शक्ति विभाग बिजली विभाग का डिफॉल्टर है और बिजली बिल चुकता नहीं कर रहा है. मामला कुल्लू जिले से जुड़ा है. अब बिजली विभाग ने जल शक्ति विभाग को नोटिस जारी किया है.

दरअसल, बिजली बोर्ड के कुल्लू सर्कल ने आईपीएच विभाग को नोटिस जारी कर बिजली बिलों के भुगतान की मांग की है. कुल्लू जिला में आईपीएच विभाग ने विभिन्न पेयजल और सिंचाई और सीवरेज योजनाओं के लिए बिजली बिल के एवज में 1 करोड़ 70 लाख रुपये का भुगतान नहीं किया है. ऐसे में बिजली बोर्ड के अधिकारियों ने आईपीएच विभाग को जल्द बिलों के भुगतान की मांग की है.

कुल्लू सर्कल में बिजली बोर्ड के अधीक्षण अभियंता संजय कौशल ने कहा कि पिछले दो साल से आईपीएच विभाग ने बिजली बोर्ड के 1 करोड़ 70 लाख रुपये के बिल पेंडिंग हैं. इसमें कुल्लू सर्कल में चार डिविजन आते है और केलांग, मनाली, कुल्लू और थलौट डिवीजन शामिल हैं.

सबसे ज्यादा आईपीएच डिवीजन कुल्लू का 1 करोड़ रुपये और आईपीएच डिवीजन थलौट का 50 लाख रुपये बिजली बिल पेंडिंग है. इसके अलावा, आईपीएच डिवीजन मनाली और आईपीएच डिवीजन केलांग का करीब 20 लाख रुपये बिल विभाग ने नहीं चुकाया है.

Tags: Electricity problem, Himachal Pradesh Lok Sabha Elections 2019, Kullu News

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर