दूसरे राज्यों की तुलना में हिमाचल के खिलाड़ियों को कम सुविधाएं: कविता

अंतर्राष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी कविता ठाकुर ने कहा कि देश के बाकि राज्यों के मुकाबले में हिमाचल में खिलाड़ियों को मूलभूत सुविधाएं कम हासिल हैं.

Tulsi Bharti | ETV Haryana/HP
Updated: January 14, 2018, 1:41 PM IST
दूसरे राज्यों की तुलना में हिमाचल के खिलाड़ियों को कम सुविधाएं: कविता
अंतर्राष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी कविता ठाकुर
Tulsi Bharti | ETV Haryana/HP
Updated: January 14, 2018, 1:41 PM IST
अंतर्राष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी कविता ठाकुर ने कहा कि देश के बाकि राज्यों के मुकाबले में हिमाचल में खिलाड़ियों को मूलभूत सुविधाएं कम हासिल हैं. यह बात उन्होंने कुल्लू में मीडिया के एक सवाल के जवाब में कही. उन्होंने कहा कि प्रदेश में खेलों का ढांचा सुधारने की जरूरत है और ग्रामीण स्तर पर युवाओं को हर खेल में सुविधा देने की जरूरत है.

कविता ठाकुर ने नई सरकार से आग्रह करते हुए कहा कि प्रदेश में खिलाड़ियों को हरसंभव मूलभूत सुविधा प्रदान करें ताकि प्रदेश के युवा अच्छे खेल का प्रदर्शन कर देश व प्रदेश का नाम रोशन करें. उन्होंने कहा कि प्रदेश के युवाओं में हर खेल में अच्छा प्रदर्शन करने की क्षमता है जिससे प्रदेश के युवा खिलाड़ी अतंर्राष्ट्रीय स्तर पर बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि स्कूलों में सरकार खेलों को बढ़ावा देने के लिए स्कूल स्तर पर शारीरिक शिक्षकों की कमी पूरा करें ताकि ग्रामीण क्षेत्र में छुपी हुई प्रतिभा को निखारा जा सके. उन्होंने यह भी कहा कि मां-बाप बेटियों को बेटों से कम ना आंके. आज बेटियां हर क्षेत्र में देश प्रदेश का नाम रोशन कर रही हैं.

वन, परिवहन एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा कि सरकार स्कूलों के स्तर पर खिलाड़ियों को उचित सुविधा प्रदान करेगी और जिससे प्रदेश में स्पोर्टस पॉलिसी बनाकर राष्ट्रीय स्तर पर स्पोर्टस काउंसिल के सभी विशेषज्ञ की राय लेकर खेलों के लिए बेहतर सुविधा प्रदान की जाएगी.

उन्होंने कहा कि प्रदेश की भौगोलिक स्थिति के आधार पर स्पोर्टस पॉलिसी बनाकर राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर नीति तय की जाएगी. उन्होंने कहा कि प्रदेश के खिलाड़ियों को बेहतर सुविधा दी जाएंगी.
News18 Hindi पर Jharkhand Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Himachal Pradesh News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर