हिमाचल प्रदेश : पुलिस ने प्रतिबंधित दवा रखने के आरोप में डॉक्टर को किया अरेस्ट

Tulsi Bharti | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 19, 2019, 2:26 PM IST
हिमाचल प्रदेश : पुलिस ने प्रतिबंधित दवा रखने के आरोप में डॉक्टर को किया अरेस्ट
प्रतीकात्मक तस्वीर: कुल्लू पुलिस ने आरोपी डॉक्टर के पास से प्रतिबंधित दवा ट्रामाडोल की खेप पकड़ी है.

पुलिस ने डॉक्टर हरबंस लाल को गिरफ्तार कर लिया है. उनके पास बैन मेडिसिन ट्रामाडोल की खेप मिली है.

  • Share this:
हिमाचल प्रदेश के कुल्लू पुलिस थाना भुंतर के तहत शमशी में आईटीआई के नजदीक पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर एक क्लीनिक पर छापा मारकर प्रतिबंधित ट्रामाडोल टैबलेट्स की खेप पकड़ी है. पुलिस ने डॉक्टर हरबंस लाल को गिरफ्तार कर लिया है. आयुर्वेद और यूनानी डॉक्टर हरबंस लाल निवासी गांव नग्गर डोगरी के रहने वाला है. पुलिस के अनुसार क्लीनिक से मादक पदार्थ अधिनियम से संबंधित ड्रग ट्रामाडोल की 100 टैबलेट्स मिलीं हैं. आरोपी डॉक्टर के क्लीनिक से एक रजिस्टर भी मिला है, जिसमें बहुत से नशेड़ियों व्यक्तियों के नाम लिखे हुए पाए गए हैं.

डॉक्टर के पास से मिली बैन ट्रामाडोल टैबलेट्स की खेप

accused arrested-आरोपी गिरफ्तार
कुल्लू के शमशी में डॉक्टर के पास से रेड के दौरान ट्रामाडोल दवाई मिली है. डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया है.


कुल्लू के डीएसपी आशीष शर्मा ने बताया कि शमशी में डॉक्टर के पास से रेड के दौरान ट्रामाडोल दवाई मिला है. यह एक प्रतिबंधित दवा है. यही वजह है कि डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया है. डॉक्टर से पूछताछ में यह पता चला है कि उसने यह दवाई मंडी के एक आॅनलाइन स्टोर से मंगवाई है. गौरतलब है कि इस दवा का इस्तेमाल वैसे नशेड़ी करते हैं जो हेरोइन के आदि की जद में आ चुके हैं. अक्सर ऐसे नशेड़ी को जब हेरोइन नहीं मिल पाती है तब वे ट्रामाडोल की डोज लेते हैं.

दो दिन की पुलिस रिमांड पर आरोपी डॉक्टर

आशीष शर्मा ने बताया कि यह एक ऐसी दवाई है, जिसे एमबीबीएस डॉक्टर की सलाह पर ही किसी मरीज को दिया जा सकता है. डॉक्टर ने किस मरीज को यह दवाई दी, इसका पूरा रिकॉर्ड भी मैंटेन रखना पड़ता है. सरकार ने इस दवाई को मादक पदार्थ अधिनियम के तहत प्रतिबंधित रखा है. वहीं आरोपी डॉक्टर को पुलिस ने न्यायालय के आदेश पर 2 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया.

अब तक बेच चुका है 1600 डोज
Loading...

आरोपी ने खुलासा किया है कि पुलिस टीम ने आरोपी को ले जाकर उस स्टोर में रेड की, जहां पर दवाइयों का व्यवस्थित रिकॉर्ड न मिलने के कारण ड्रग्स एंड कॉस्मैटिक एक्ट के तहत ड्रग इंस्पैक्टर भी कार्रवाई कर रहे हैं. रिकॉर्ड के मुताबिक आरोपी डॉक्टर अभी तक करीब 1600 डोज बेच चुका है. अक्सर यह दवाई 100 से 200 रुपए के बीच खरीद की जाती है परंतु डॉक्टर अवैध रूप से इस दवाई का दुरुपयोग करते हुए हैरोइन के आदी नशेड़ियों को 500 से 1000 रुपए के बीच उपलब्ध करवा रहा था.

यह भी पढ़ें: हिमाचल में आफत की बारिश: 24 घंटे में चार मरे, 102 करोड़ का हुआ नुकसान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कुल्‍लू से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2019, 2:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...