• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • हिमाचल: 2 महीने बाद फिर से व्यास नदी में रिवर राफ्टिंग शुरू, कारोबारियों ने ली राहत की सांस

हिमाचल: 2 महीने बाद फिर से व्यास नदी में रिवर राफ्टिंग शुरू, कारोबारियों ने ली राहत की सांस

गौरतलब है कि कुल्लू- मनाली में हर साल बरसात के कारण 15 जुलाई से 15 सितंबर तक एडवेंचर गतिविधियां नियमनुसार बंद रहती हैं.

गौरतलब है कि कुल्लू- मनाली में हर साल बरसात के कारण 15 जुलाई से 15 सितंबर तक एडवेंचर गतिविधियां नियमनुसार बंद रहती हैं.

व्यास नदी (Beas River) में रिवर राफ्टिंग शुरू होने से छोटे कारोबारियों का व्यवसाय भी शुरू हो गया है. ऐसे में कुल्लू और मनाली में कारोबारियों को विंटर सीजन में अच्छे कारोबार की उम्मीद है.

  • Share this:

कुल्लू. हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले (Kullu District) में दो महीने बाद एडवेंचर गतिविधियां फिर से शुरू हो गई हैं. ऐसे में घाटी के हजारों कारोबारियों ने राहत की सांस ली है. जानकारी के मुताबिक, बुधवार को व्यास नदी (Beas River) में रिवर राफ्टिंग (River Rafting) शुरू होने से बाहरी राज्यों से आने वाले काफी पर्यटकों ने इसका जमकर लुत्फ उठाया. वहीं, व्यास नदी में रिवर राफ्टिंग शुरू होने से छोटे कारोबारियों का व्यवसाय भी शुरू हो गया है. ऐसे में कुल्लू और मनाली में कारोबारियों को विंटर सीजन में अच्छे कारोबार की उम्मीद है. गौरतलब है कि कुल्लू- मनाली में हर साल बरसात के कारण 15 जुलाई से 15 सितंबर तक एडवेंचर गतिविधियां नियमनुसार बंद रहती हैं. खास करपर्यटकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया जाता है.

वहीं, दिल्ली से कुल्लू- मनाली घूमने आई काजल ने बताया कि कुल्लू- मनाली में ऑफ सीजन में भीड़ नहीं रहती है. ऐसे में किसी भी जगह किसी चीज के लिए इंतजार नहीं करना पड़ रहा है. काजल ने कहा कि उसने जिंदगी में पहली बार व्यास नदी में रिवर राफ्टिंग की है. रिवर राफ्टिंग करने के बाद मुझे बहुत अच्छा लग रहा है. यहां का पर्यावरण बहुत अच्छा है. लेकिन यहां पर बर्फ देखने के लिए आए थे. पर यहां पर बर्फ नहीं है. हम रोहतांग भी गए, लेकिन वहां पर भी बर्फ नहीं मिली.

बर्फ की कमी हो रही है
साथ ही दिल्ली से आए पर्यटक सौरभ ने बताया कि कुल्लू- मनाली में बर्फ देखने के लिए आए थे, लेकिन स्नो नहीं मिली. जिससे थोड़ा मायूसी हुई है. लेकिन यहां पर रिवर राफ्टिंग का लुत्फ उठाया है. उन्होंने कहा कि व्यास नदी में लॉकडाऊन के बाद पूरे परिवार के साथ यहां घूमने आए हैं. उन्होंने कहा कि लगातार पर्यावरण में बदलाव हो रहा है, जिससे पहाड़ो पर बर्फ देखने को नहीं मिल रही है. उन्होंने कहा कि लगातार पर्यावरण प्रदूषित हो रहा है, जिसका असर पहाड़ों पर भी पड़ रहा है. ऐसे में यहां पर बर्फ की कमी हो रही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज