आय से अधिक सम्पति केस में धूमल को क्लीन चिट, बोले-राजनीति से प्रेरित था मामला

धूमल ने कहा कि सरकार अभी नई है और स्थापित होने में समय लगेगा.

News18 Himachal Pradesh
Updated: September 14, 2018, 5:28 PM IST
आय से अधिक सम्पति केस में धूमल को क्लीन चिट, बोले-राजनीति से प्रेरित था मामला
हिमाचल के पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल.
News18 Himachal Pradesh
Updated: September 14, 2018, 5:28 PM IST
देश की राजनीति में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की कमी खल रही है खासकर हिमाचल प्रदेश और कुल्लू मनाली तो उनका घर रहा है, जिसके चलते यहां उनकी बहुत ज्यादा कमी खल रही है. ये शब्द पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने शाड़ाबाई स्थित बिजली बोर्ड के विश्राम गृह में कहे.

उन्होंने कहा कि अटल जी का परिवार मनाली आया हुआ था, जहां उनके अस्तु विसर्जित किए गए हैं, लिहाजा, उनके देहांत के बाद खालीपन सा खल रहा है.

‘मुझ पर लगाए कई आरोप निराधार’
उन्होंने कहा कि आय से अधिक संपत्ति मामले में उन्हें क्लीन चिट मिली है. क्योंकि मुझ पर लगाए गए आरोप पूरी तरह से निराधार थे. उन्होंने कहा कि सिर्फ आय से अधिक संपत्ति का मामला ही नहीं, मुझ पर ऐसे कई आरोप लगाए गए हैं, जो पूरी तरह से निराधार हैं और राजनीति से प्रेरित हैं. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव आने वाले हैं और भाजपा इस बार भी हिमाचल प्रदेश की चारों सीटें जीतेंगी.

धूमल ने कहा कि पिछली बार तो हम सत्ता में नहीं थे फिर भी हमने प्रदेश की चारों सीटों को अपनी झोली में डाला था, लेकिन इस बार केंद्र और राज्य दोनों जगह अपनी ही सरकार है और हम प्रदेश की चारों सीटों की रिकार्ड मतों से जीतेंगे.

पेट्रोलियम पदार्थों के दामों पर ये बोले
धूमल ने कहा कि धीरे-धीरे इसके लिए भाजपा माहौल बना रही है.धूमल ने पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के सवाल का जवाब देते हुए कहा
कि केंद्र और राज्य सरकार को आम जनता के लिए कोई रास्ता निकालकर राहत प्रदान करनी चाहिए. उन्होंने उम्मीद जताई है कि केंद्र और राज्य सरकार अवश्य कोई रास्ता निकालेंगे.

उन्होंने प्रदेश सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने 30-32 योजनाओं की घोषणा की है और जिसमें वृद्धावस्था पैंशन जैसे कई फैसले काबिले तारीफ हैं. इसका जनता को फायदा पहुंचेगा. धूमल ने कहा कि वह व्यक्ति विशेष के साथ कभी नहीं रहे, बल्कि उनका कमल के फूल का साथ है. इसलिए लोकसभा चुनाव में उन सभी उम्मीदवारों का साथ दिया जाएगा, जो कमल निशान पर चुनाव लडे़ंगे. धूमल ने कहा कि सरकार अभी नई है और स्थापित होने में समय लगेगा.

ये है मामला

बता दें कि मौजूदा समय में स्टेट विजिलेंस एंड एंटी क्रप्शन ब्यूरो ने धूमल के खिलाफ दर्ज शिकायत को खारिज करने का मामला राज्य सरकार को भेजा था. इसके बाद जयराम सरकार ने विजिलेंस की रिपोर्ट के आधार पर जांच बंद करने की अनुमति दी. वीरभद्र सरकार के समय पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. धूमल के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति की शिकायत दर्ज हुई थी. करीब चार साल तक की जांच के बावजूद धूमल पर लगाए आरोपों की पुष्टि नहीं हो सकी है.

ये भी पढ़ें : PHOTOS: खाई में गिरी बोलेरो, युवक की मौत, शव ढूंढने के लिए ली ड्रोन की मदद
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर