अपना शहर चुनें

States

Kullu Honey Trap: फेसबुक मैसेज कर अकेले बुलाती थी, फिर शुरू होता था लव, सेक्स और ब्लैकमेल का खेल

कुल्लू में हनीट्रैप का मामला..
कुल्लू में हनीट्रैप का मामला..

Honey Trap in Kullu: हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में फेसबुक मैसेंजर के जरिए दोस्ती के बाद शारीरिक संबंध बनाकर ब्लैकमेल करने वाले गिरोह का भंडाफोड़. हिमाचल पुलिस ने युवती समेत 6 लोगों को गिरफ्तार किया.

  • Share this:
कुल्लू. हिमाचल प्रदेश के कुल्लू (Kullu) जिले में हनीट्रैप (Honey Trap) के जरिये लव, सेक्स और ब्लैकमेल करने का मामला सामने आया है. पुलिस ने इस मामले में 27 साल की युवती सहित 6 लोगों को गिरफ्तार किया है. हालांकि, 37 साल की एक अन्य महिला (Women) ने पहले ही अग्रिम जमानत ले ली थी. फिलहाल पुलिस (Kullu Police) मामले की पड़ताल कर रही है.

जानकारी के अनुसार, कुल्लू जिला में पिछले कई साल से ये लोग सक्रिय थे और लोगों को ब्लैकमेल कर पैसे ऐंठ रहे थे. दरसअल, भुंतर पुलिस थाना में एक महिला ने उसके पति को फंसा कर पैंसे व मोबाइल लूटने व मारपीट करने की शिकायत की थी. कुल्लू पुलिस ने मामले में गहनता से छानबीन की तो सात लोगों को गिरफ्तार किया.

कैसे करते थे ब्लैकमैल
पुलिस के अनुसार, गिरोह की महिला सदस्य लोगों को फेसबुक मैसेंजर और सोशल मीडिया से फंसा कर उन्हें किसी तरह अपने घर में अकेले बुलाती थी और सम्बन्ध बनाती है. इसके कुछ ही देर बाद गिरोह के अन्य सदस्य पहुंचते थे और खुद को महिला का पति, भाई, रिश्तेदार या स्थानीय निवासी बताते. महिला और वहां मौजूद व्यक्ति के साथ हगांमा करते है. साथ ही पुलिस केस बनाने व जान से मारने की धमकियां देते हैं. बाद में फंसे हुए व्यक्ति से पैसे लेकर मामला सैटल कर लेते थे.
क्या बोले डीएसपी


कुल्लू के डीएसपी प्रियांक गुप्ता ने बताया कि एक व्यक्ति के साथ जब यह घटना हुई तो व्यक्ति ने अपनी पत्नी से फोन करके वसूली की रकम देने के लिए पैसे मांगे. व्यक्ति की पत्नी ने हिम्मत दिखाते हुए वारदात की शिकायत पुलिस थाना भुंतर को दी. इसके चलते भुंतर पुलिस की टीम ने हनीट्रैप के सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि एक सदस्या माननीय उच्च न्यायालय शिमला से अग्रिम जमानत मिली है. उन्होंने बताया कि पुलिस ने वारदात को अंजाम देने के लिए इस्तेमाल 2 गाड़ियों को भी कब्जे में लिया है.

रिकवरी भी की है
डीएसपी ने बताया कि व्यक्ति से छीने गए 40 हजार रुपए में से गिरोह के पास से 10 हजार रुपए की रिकवरी कर दी गई है. इस गिरोह के सदस्यों के खिलाफ पहले ही 5 केस लड़ाई-झगडे और मारपीट, रास्ता रोकने के पुलिस थाना में दर्ज है, जिसमें भुंतर थाना में वर्ष 2014 में आईपीसी की धारा 353, 451, 332, 34 और पीडीपी एक्ट की 3 धारा के तहत, 2015 में आईपीसी की धारा 341, 323, 504, 506, 34 व 2016 में आईपीसी की धारा 341,323, 504,506, 34 के तहत मामला दर्ज है. साथ वर्ष 2016 में आईपीसी की धारा 341, 323, 382, 34 आईपीसी और कुल्लू थाना में 2020 में ही आईपीसी की धारा 341, 323, 382 और 34 के तहत मामला दर्ज है. पांचों पुरुष आरोपी कुल्लू जिले के ही रहने वाले हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज