हिमाचल: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के कार्यक्रम भी शामिल हुए थे कोरोना संक्रमित BJP MLA सुरेन्द्र शौरी, SPG पर उठे सवाल

मनाली में कार्यक्रम के दौरान राजनाथ सिंह और सीएम जयराम ठाकुर के अलावा सरेंद्र शौरी.
मनाली में कार्यक्रम के दौरान राजनाथ सिंह और सीएम जयराम ठाकुर के अलावा सरेंद्र शौरी.

विधायक सुरेन्द्र शौरी के संपर्क में मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर, शिक्षामंत्री गोविंद सिंह ठाकुर,वनमंत्री राकेश पठानियां सहित भाजपा के प्रदेश पदाधिकारी व जिला के पदाधिकारी प्राईमरी संपर्क में आए हैं.

  • Share this:
कुल्लू. हिमाचल प्रदेश के विश्व प्रसिद्व अटल टनल रोहतांग (Atal Tunnel Rohtang) के उद्घाटन से 1 दिन पूर्व रक्षामंत्री राजनाथ के सरकारी कार्यक्रम में कोरोना पॉजिटिव भाजपा विधायक सुरेन्द्र शौरी (BJP MLA Surender Shouri) भी शामिल हुए थे. इस दौरान सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) भी साथ थे और सीएम अब क्वारंटीन हैं. वहीं, बिना कोरोना टेस्ट (Corona Test) शौरी इस कार्यक्रम में कैसे पहुंचे, इसको लेकर केंद्रीय सुरक्षा एजेंसी (एसपीजी) की कार्यप्रणाली पर भी सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं. वहीं, जिला स्वास्थ्य विभाग भी मामले को लेकर जानकारियां छुपा रहा है.

कैबिनेट मंत्री से भी मिले थे
भाजपा विधायक सुरेंन्द्र शौरी 1 अक्तुबर को वन मंत्री राकेश पठानियां से भी कुल्लू फॉरेस्ट रेस्ट हॉऊस में मिले थे. इस दौरान कांग्रेस विधायक सुंदर सिंह ठाकुर भी मौजूद थे. उसके बाद शाम 5 बजे विधायक सुरेन्द्र शौरी ने क्षेत्रीय अस्पताल में कोरोना सैंपल दिया, जिसके बाद विधायक सुरेंन्द्र शौरी कई लोगों से मिले. 2 अक्तुबर को सासे हेलिपेड मनाली में मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के स्वागत और सरकारी कार्यक्रम में शामिल हुए. ऐसे में सवाल यह खड़ा होता है कि विधायक सुरेन्द शौरी ने कोविड-19 गाइडलाइन का उल्लंघन किया है.

आइसोलेट नहीं हुए विधायक
क्योंकि कोरोना सैंपल देने के बाद जब तक रिपोर्ट नहीं आती है, तब तक आईसोलेट होना पड़ता है. लेकिन शौरी ने ऐसा नहीं किया. 2 अक्तुबर को कोरोना सैंपल पॉजिटिव आने के बाद होम वह आईसोलेट हुए. ऐसे में जहां सुरक्षा एजेंसी एसपीजी के अधिकारियों से मामले में बड़ी चूक हुई है.



कैबिनेट मंत्री राकेश पठानिया के साथ सुरेंद्र शौरी ( साथ खड़े हैं).


शौरी ने बढ़ाई मुश्किल
विधायक सुरेन्द्र शौरी के संपर्क में मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर, शिक्षामंत्री गोविंद सिंह ठाकुर,वनमंत्री राकेश पठानियां सहित भाजपा के प्रदेश पदाधिकारी व जिला के पदाधिकारी प्राईमरी संपर्क में आए हैं. इससे अब सभी प्रशासनिक अधिकारियों व भाजपा के पदाधिकारियों में हडकंप मच गया है. ऐसे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संपर्क में मुख्यमंत्री, मंत्रियों और कई अधिकारियों पर भी कोरोना वायरस के संक्रमण का कई लोगों पर खतरा बना हुए है.

प्रशासन ने साधी चुप्पी
मामले को लेकर प्रशासनिक अधिकारी व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कुछ भी कहने से कतरा रहे है. स्वास्थ्य विभाग के बड़े अधिकारी कह रहे हैं कि हमें इस मामले पर कुछ पता नहीं हैं. वहीं, विधायक सुरेंन्द्र शौरी का 1 अक्तुबर को सैंपल लिया था, जिसके रिपोर्ट पॉजिटिव आने का कोई पता नहीं चला. ऐसे में स्वास्थ्य विभाग भी अपनी जिम्मेदारी से भागता नजर आ रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज