• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • Kullu Flash Flood: पार्टनर अर्जुन बोले-हाथ छूटा और ब्रह्मगंगा में बह गईं विनीता

Kullu Flash Flood: पार्टनर अर्जुन बोले-हाथ छूटा और ब्रह्मगंगा में बह गईं विनीता

दिल्ली के रहने वाले अर्जुन तबाही में जिंदा बच गए थे. विनीता ने अर्जुन को ब्रह्मगंगा नाले में आए अचानक सैलाब से बाहर निकाल लिया था,

दिल्ली के रहने वाले अर्जुन तबाही में जिंदा बच गए थे. विनीता ने अर्जुन को ब्रह्मगंगा नाले में आए अचानक सैलाब से बाहर निकाल लिया था,

Kullu Cloud Burst: विनीता के पिता विनोद चौधरी बुलंदशहर में शिक्षक हैं. परिवार के चार सदस्य तीन दिन तक कुल्लू में रहे. रेस्क्यू टीमों के साथ सर्च ऑपरेशन चलाया, लेकिन थक-हारकर लौट आए.

  • Share this:

    कुल्लू. हिमाचल प्रदेश में बीते माह 20 जुलाई को हुई बारिश बारिश में कुल्लू जिले में ब्रह्मगंगा में आई बाढ़ में बहे चार लोगों का अब तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है. 26 साल की पूनम, उनके चार साल के बेटे और स्थानीय युवक वीरेंद्र के अलावा, गाजियाबाद की विनीता का अब कुछ पता नहीं चल पाया है. घटना में बचे विनीता के पार्टनर और दोस्त अर्जुन ने अब मीडिया को बयान दिया है.

    एक समाचार पत्र से बातचीत में अर्जुन ने बताया कि घटना के दिन क्या हुआ था. दिल्ली के रहने वाले अर्जुन तबाही में जिंदा बच गए थे. विनीता ने अर्जुन को ब्रह्मगंगा नाले में आए अचानक सैलाब से बाहर निकाल लिया था, लेकिन वह खुद बह गईं और अर्जुन घायल हुए थे. दिल्ली के राजेंद्र नगर के रहने वाले अर्जुन ने बताया कि घटना के दिन सुबह साढ़े पांच बज रहे थे. विनीता मॉर्निंग वॉक पर थी और इस दौरान ब्रह्मगंगा नाले में बाढ़ के पानी की आवाज के चलते ही वह जल्दी उठ गई थीं. उस दौरान कैंपिंग साइट में 30 से ज्यादा थे.

    25 साल की विनीता चौधरी उप्र के गाजियाबाद जिले में लोनी थाना क्षेत्र स्थित निस्तौली गांव की रहने वाली हैं.

    टूरिस्ट को भी बचाया

    विनीता ने सभी कमरों के दरवाजे नॉक किए और अंदर सो रहे पर्यटकों को जगाया और वहां से भागने के लिए कहा. ज्यादातर पर्यटक वहां से निकल चुके थे. इसी दौरान पानी का एक सैलाब रिसॉर्ट के ऊपर आ गया और सब कुछ बह गया.

    ब्रह्मगंगा में आई बाढ़ में बहे चार लोगों का अब तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है.

    हाथ छूटा और दोनों बह गए

    अर्जुन बताते हैं कि वह विनीता का हाथ पकड़कर भाग रहे थे. लेकिन उनका पैर फिसला और दोनों का हाथ छूट गया. दोनों जमीन पर गिर गए और पानी के तेज बहाव में बह गए. अर्जुन के हाथ में एक पाइप आ गया और वह उसे थामे रहे. कुछ देर में स्थानीय लोगों ने पकड़कर उन्हें खींच लिया. विनीता कहां-किधर बह गईं, कुछ पता नहीं चला. उन्हें इतना याद है कि जब उनकी आंख खुली तो चंडीगढ़ पीजीआई में थे. दोनों कुल्लू की पार्वती वैली में ‘कसौल हाइट्स’ नाम से रिसॉर्ट चलाते थे और यह कैंपिंग साइट पूरी तरह बह गई है. 25 साल की विनीता चौधरी उप्र के गाजियाबाद जिले में लोनी थाना क्षेत्र स्थित निस्तौली गांव की रहने वाली हैं. विनीता के पिता विनोद चौधरी बुलंदशहर में शिक्षक हैं. परिवार के चार सदस्य तीन दिन तक कुल्लू में रहे. रेस्क्यू टीमों के साथ सर्च ऑपरेशन चलाया, लेकिन थक-हारकर लौट आए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज