जंगली मशरूम खाने से महिला की मौत, परिवार के 3 सदस्य भर्ती

News18 Himachal Pradesh
Updated: August 22, 2019, 10:36 AM IST
जंगली मशरूम खाने से महिला की मौत, परिवार के 3 सदस्य भर्ती
कु्ल्लू जंगली मशरूम खाने से महिला की मौत, परिवार बीमार. (सांकेतिक तस्वीर)

जानकारों का मानना है कि जंगली मशरूम (Mushroom), जिसे स्थानीय भाषा मे रोहाची, छाछ, फुटु, छत्तरी, भिभौरा, छाती, कुकुरमुत्ता और ढिगरी आदि नामों से जाना जाता है, का औषधीय महत्व है.

  • Share this:
हिमाचल प्रदेश के कुल्लू (Kullu) जिले के आनी खंड की मुहान पंचायत में जंगली मशरूम (Mushroom) खाने से एक ही परिवार चार लोग बीमार हो गए, जिनमें से विवाहिता की पीजीआई चंडीगढ़ (PGI Chandigarh) में मौत हो गई है. उधर, परिवार के बाकी सदस्यों की हालत स्थिर है, जिन्हें रामपुर अस्पताल से उपचार के बाद घर भेज दिया गया है.

ये है मामला
जानकारी के अनुसार, मृतका की पहचान मुहान पंचायत के बशावल निवासी कृष्णा देवी ( 24 ) पत्नी प्रदीप कुमार के रूप में हुई है. मृतका के मामा दीवान ठाकुर ने बताया कि घटना 14 अगस्त की है. जब बशावल गांव के इस परिवार ने जंगली मशरूम लाये और रात में इसकी सब्जी बनाकर सेवन किया. 15 अगस्त रक्षा बंधन के दिन सुबह महिला कृष्णा देवी अपने मायके राखी (Rakhi) बांधने चली गई. सब्ज़ी खाने से परिवार के बाकी सदस्यों ससुर पुणे राम, सास रमीला देवी और देवर पविन्द्र कुमार को उल्टी-दस्त की शिकायत हुई. महिला के पति प्रदीप कुमार ने सब्जी का सेवन नहीं किया था. पीड़ितों ने स्थानीय डिस्पेंसरी से फर्स्ट एड लिया और कुछ तबीयत सुधरी.

लीवर हुआ डैमेज

कृष्णा देवी की राखी बांधने के बाद तबीयत बिगड़ी तो उसे डिगेढ स्थित पीएचसी में प्राथमिक उपचार देने के बाद हालत सुधरने पर ससुराल भेज दिया गया. 16 अगस्त को महिला के अलावा परिवार के बाकी सदस्यों की तबीयत बिगड़ने पर उन्हें रामपुर अस्पताल पहुंचाया गया. इसी दौरान घर मे महिला की भी हालात भी बिगड़ गई और उसे नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया. यहां से उसे तुरंत बड़े अस्पताल भेजने की सलाह दी गई. रामपुर पहुंचने पर पता चला कि कृष्णा का लीवर बुरी तरह डेमेज हुआ है और यहां से उसे आईजीएमसी (IGMC) शिमला ले जाया गया. लेकिन डॉक्टरों ने उसकी हालत को देखते हुए परिजनों के आग्रह पर पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया. यहां 19 अगस्त को इलाज के दौरान कृष्णा ने दम तोड़ दिया. पीजीआई चंडीगढ़ में बुधवार को जाकर पोस्टमार्टम हो सका है, जिसकी पुष्टि डीएसपी तेजेन्द्र वर्मा ने की है. उन्होंने बताया कि मृतका के शव को कब्जे में लेने के लिए आनी से पुलिस की टीम पीजीआई चंडीगढ़ भेजी गई है.

जंगली मशरूम हो सकते हैं जानलेवा?
जानकारों का मानना है कि जंगली मशरूम, जिसे स्थानीय भाषा मे रोहाची, छाछ, फुटु, छत्तरी, भिभौरा, छाती, कुकुरमुत्ता और ढिगरी आदि नामों से जाना जाता है, का औषधीय महत्व है. लेकिन यह सही जानकारी और सही पहचान न होने पर जानलेवा हो सकते हैं. इसलिए जंगली मशरूम का सेवन करने से पहले इसकी जांच अवश्य कर लेनी चाहिए. इसके बाद इसे अच्छी तरह साफ कर लेना चाहिए, इसे नमक वाले पानी मे उबालकर इसके अंदर के जानलेवा कीटाणुओं और तत्वों को खत्म करने के बाद ही सब्ज़ी बना कर खाना चाहिए.
Loading...

(आनी से जितेंद्र गुप्ता की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें: पुलिस की बड़ी लापरवाही, गिरफ्त से चिट्टा तस्कर फरार

डॉ. परमार ने किसानों के लिए जो सपने देखे वे आज भी अधूरे हैं

हिमाचल के हमीरपुर में मर्डर: भाई संग पति को मौत के घाट उतारा

मलयालम फिल्म यूनिट के पास नहीं थी स्पीति में शूट की इजाजत!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कुल्‍लू से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 10:32 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...