टूरिस्टों का फेवरिट होलीडे डेस्टिनेशन है कुल्लू, यहां का रंगबिरंगा दशहरा सबसे मशहूर
Kullu News in Hindi

टूरिस्टों का फेवरिट होलीडे डेस्टिनेशन है कुल्लू, यहां का रंगबिरंगा दशहरा सबसे मशहूर
कुल्लू अपने खूबसूरत औऱ मनोरम दृश्यों के लिए जाना जाता है

गर्मियों के मौसम में कुल्लू लोगों का एक फेवरिट होलीडे डेस्टिनेशन है. मैदानों में तपती धूप से बच कर लोग हिमाचल की कुल्‍लू घाटी में शरण में आते हैं. यहां के मंदिर, सेब के बागान और रंगबिरंगा दशहरा बड़ी संख्या में पर्यटकों को कुल्‍लू की ओर आकर्षित करते हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 28, 2020, 12:11 PM IST
  • Share this:
कुल्लू. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) का एक खूबसूरत और रमणीय पर्यटक शहर है कुल्लू (Kullu). पूर्व में कुल्‍लू घाटी को कुलंथपीठ कहा जाता था. कुलंथपीठ का शाब्दिक अर्थ है रहने योग्‍य दुनिया का अंत. कुल्‍लू घाटी भारत में देवताओं की घाटी रही है. कुल्लू की आबादी लगभग साढ़ चार लाख है. यहां का साक्षरता दर 80 प्रतिशत है.

बरसों से इसकी खूबसूरती और हरियाली पर्यटकों को अपनी ओर खींचती आई है. विज नदी के किनारे बसा यह स्‍थान अपने यहां मनाए जाने वाले रंगबिरंगे दशहरा के लिए मशहूर है. यहां सत्रहवीं शताब्‍दी में बना रघुनाथजी का मंदिर है जो हिंदुओं का एक प्रमुख तीर्थ स्‍थान है. सिल्‍वर वैली के नाम से मशहूर कुल्लू केवल सांस्‍कृतिक और धार्मिक गतिविधियों के लिए ही नहीं बल्कि एडवेंचर स्‍पोर्ट के लिए भी काफी प्रसिद्ध है.

गर्मियों के मौसम में कुल्लू लोगों का एक फेवरिट होलीडे डेस्टिनेशन है. मैदानों में तपती धूप से बच कर लोग हिमाचल की कुल्‍लू घाटी में शरण में आते हैं. यहां के मंदिर, सेब के बागान और रंगबिरंगा दशहरा बड़ी संख्या में पर्यटकों को कुल्‍लू की ओर आकर्षित करते हैं. यहां के स्‍थानीय हस्‍तशिल्‍प कुल्‍लू की एक बड़ी विशेषता है.



पर्यटन स्थल
रघुनाथजी मंदिर, बिजली महादेव मंदिर, कुल्लू दशहरा, वॉटर और एडवेंचर स्पोर्ट

दर्शनीय स्थल
कुल्लू के आसपास कई दर्शनीय स्थल हैं जिनके नाम हैं- नग्गर, जगतसुख, देव टिब्बा, बंजार, मणीकरण, रुमसू

ट्रांसपोर्ट
कुल्लू से 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित भुंतर हवाईअड्डा है. यहां के लिए देश की राजधानी दिल्‍ली से नियमित उड़ानें हैं. भुंतर से कुल्‍लु घाटी के लिए बस और टैक्सियां मिलती हैं. इसके अलावा यहां से निकटतम रेलहेड कालका, चंडीगढ़ और पठानकोट हैं जहां से कुल्‍लु पहुंचा जा सकता है. इसके अलावा कुल्‍लू दिल्‍ली, अंबाला, चंडीगढ़, शिमला, देहरादून, पठानकोट, धर्मशाला और डलहौजी समेत प्रदेश और देश के अन्‍य हिस्सों से सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है. इन जगहों से कुल्‍लु के लिए नियमित रूप से बसें चलती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज