लाइव टीवी

हिमाचल: पिता चाहते थे दोनों बेटे फौज में जाएं, सोहन और मोहन ने पूरा किया सपना
Kullu News in Hindi

Tulsi Bharti | News18 Himachal Pradesh
Updated: February 7, 2020, 12:37 PM IST
हिमाचल: पिता चाहते थे दोनों बेटे फौज में जाएं, सोहन और मोहन ने पूरा किया सपना
सोहन और मोहन फौज में चुने गए हैं.

Indian Army Recruitment: सोहन और मोहन की मां गृहिणी हैं. बड़ी बहन ने बीए की परीक्षा पास की है और वह भी अपने भाईयों की तरह सेना में जाने की इच्छा पाले हुए है.

  • Share this:
कुल्लू. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) को वीरभूमि कहा जाता है. अक्सर देश के पीएम नरेंद्र मोदी भी अपने भाषणों में इस बात का जिक्र कर चुके हैं. सूबे के युवाओं में भी फौज (Indian Army) में भर्ती होने का खासा क्रेज है. ताजा मामला हिमाचल प्रदेश के कुल्लू (Kullu) जिले का है, जहां दो भाईयों ने पिता के सपने को साकार किया है. हाल ही में पालमपुर (Palampur) में हुई सेना भर्ती में दोनों भाइयों का चयन हुआ है और इससे जश्न का माहौल है.

लाडलों के चयनित होने पर घाटी गदगद
जानकारी के अनुसार, कुल्लू जिले की लगघाटी के बड़ा गांव के दो भाईयों मोहन लाल और सोहन लाल फौज में भर्ती हो गए हैं. पिता लालू राम अपने लाडलों के चयनित होने पर गदगद हैं. दोनों भाईयों के चयन होने पर गांव में भी उत्सव सा माहौल है. 5 फरवरी को भर्ती का परिणाम निकला है और अब घर में बधाई देने वालों का तांता लगा रहा.

पिता आईपीएच विभाग में फीटर हैं

मोहन और सोहन के पिता लालू राम आईपीएच विभाग में फीटर हैं. उन्होंने कहा कि दोनों बेटों को उन्होंने पढ़ाया-लिखाया और इस काबिल बनाया है. पिता लालू ने बताया कि उनका यह सपना था कि उनके लाल इंडियन आर्मी में भर्ती होकर देश सेवा करें और आज वह सपना पूरा हो गया है. ग्रामीणों का कहना है कि अन्य युवा भी भविष्य में इनके पद्चिह्नों पर चलते हुए देश सेवा और रक्षा करने के लिए तैयार होंगे.

कुल्लू में सबसे अधिक पढ़ी-लिखी घाटी
लगघाटी को जिला कुल्लू में सबसे अधिक पढ़ी-लिखी घाटी का गौरव प्राप्त है. यहां से कई अधिकारियों ने देश और प्रदेश में अपना नाम रोशन किया है. जो आर्थिक रूप से कमजोर रहे, वे भी हर काम में हाथ आजमाते हैं. घास, लकड़ी और दूध बेचने में भी इस घाटी की महिलाएं और युवा कड़ी मेहनत करते हैं.यह बोले सोहन और मोहन
इंडियन आर्मी में चयनित होने वाले दोनों सगे भाइयों सोहन और मोहन ने बताया कि उनके पिता का सपना था कि वे इंडियन आर्मी में जाएं. दोनों भाइयों ने मन में यह ठान लिया था और आज परिणाम पाकर दोनों ही खुश होने के साथ-साथ भावुक भी हैं.

सोहन और मोहन के पिता लालू राम.
सोहन और मोहन के पिता लालू राम.


सुबह सड़कों पर दौड़ते थे
दोनों भाईयों ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला भल्यानी से पढ़ाई पूरी की. जी जान से आर्मी की तैयारी करते रहे. सुबह सड़कों पर दौड़ते रहे और शरीर को पूरी तरह से काबिल बनाया. जब भी नींद खुलती थी तो वे शरीर को चुस्त-दुरूस्त रखने में सड़क पर दौड़ते दिखते थे.

बहन भी फौज में जाना चाहती है
सोहन और मोहन की मां गृहिणी हैं. बड़ी बहन ने बीए की परीक्षा पास की है और वह भी अपने भाईयों की तरह सेना में जाने की इच्छा पाले हुए है. उसका कहना है कि जब उनके भाइयों में देश सेवा का जज्बा है तो भला वह भी पीछे रहने वाली नहीं है.

विद्यालय के लिए गौरव की बात: प्रिंसिपल
भल्याणी स्कूल के प्रधानाचार्य फतेह चंद नेगी ने स्कूल और एसएमसी कमेटी की ओर से मोहनलाल और सोहन लाल बहुत बधाई दी. उन्होंने कहा कि यह विद्यालय के लिए गौरव की बात है. उन्होंने कहा कि दीपक ठाकुर, पुनीत ठाकुर, आशीष ठाकुर और मुनीश ठाकुर भी सेना में भर्ती हुए हैं. यह पूरे घाटी के लिए गौरव की बात है. उन्होंने बताया कि अभी हाल ही में ‘ईसरो’ में रमेश ठाकुर का चयन वैज्ञानिक के रूप में चयन हुआ है, जो कि ना केवल लगघाटी, बल्कि, पूरे हिमाचल के लिए गर्व की बात है।

घाटी से 25 युवाओं का चयन
सेवानिवृत्त फौजी राम सिंह ने बताया कि लगघाटी से इंडियन आर्मी में 25 युवा भर्ती हुए हैं. लगघाटी के युवा में देश की रक्षा के प्रति रूझान बढ़ रहा है. हिमाचल देवभूमि और वीर भूमि है, इसलिए यहां के युवाओं में सरहदों की रक्षा का जज्बा है. कुल्लू में बड़ी संख्या में युवा भारत माता की रक्षा करने के लिए आगे आ रहे है.

ये भी पढ़ें: हिमाचल में सड़क हादसे का LIVE VIDEO: 500 फीट गहरी खाई में यूं लुढ़कती गई कार

राष्ट्रीय वैटलिफ्टिंग चैंपियनशिप:हिमाचल के विकास ने लगातार 7वीं बार जीता खिताब

भारतीय सेना में भर्ती करवाने का झांसा देने वाला युवक 1.25 लाख लेते गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कुल्‍लू से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 7, 2020, 12:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर