कोविड अस्पताल के बजाये कुल्लू अस्पताल पहुंचाई पॉजिटिव गर्भवती, नर्सों ने जताया विरोध 
Kullu News in Hindi

कोविड अस्पताल के बजाये कुल्लू अस्पताल पहुंचाई पॉजिटिव गर्भवती, नर्सों ने जताया विरोध 
बिहार में मिले कोरोना के 1498 नए मरीज (News18 क्रिएटिव)

Kullus Nurses not Happy: महिला को नैरचौक अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया. अचानक पॉजिटिव महिला को क्षेत्रीय अस्पताल में लाने को लेकर नर्सें नाराज हो गई है.

  • Share this:
कुल्लू. हिमाचल प्रदेश के कुल्लू (Kullu) जिले में क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू में तैनात नर्सें अस्पताल प्रबंधन से खफा हो गई हैं.  नर्सों ने इसको लेकर एक मांगपत्र भी अस्पताल प्रबंधन संभाल रही चिकित्सा अधिक्षक को सौंपा है, जिसमें उन्होंने नाराजगी जताई है और व्यवस्था दुरूस्त करने की बात की है. नर्सों का कहना है कि जब कोविड (Covid) अस्पताल बनाया गया है तो उसके बावजूद भी क्षेत्रीय अस्पताल में पॉजिटिव महिला को प्रसव (Delivery) करवाने के लिए लाना तर्क संगत नहीं है. कायदे से उसे कोविड़ अस्पताल ले जाया जाना चाहिए था.

नर्सों ने क्या कहा

नर्सों ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि हालांकि, अगर उन्हें पहले ही यह कह दिया जाता है कि उन्हें पॉजिटिव मरीजों को भी डील करना है तो वे उस तरह से अपने आप को तैयार करती,  लेकिन अचानक पॉजिटिव महिला को क्षेत्रीय अस्पताल में लाकर नर्स पर उसे चैक करने और उसका प्रसव करवाने का दवाव डालना ठीक नहीं है. दरअसल, घटना रविवार रात की है जब एक पॉजिटिव महिला को एंबुलेंस में अस्पताल लाया गया, लेकिन उसे चैक करने के लिए कोई भी डॉक्टर नहीं था. इस दौरान डयूटी पर तैनात नर्स को कहा गया. इससे बाद में यह निर्णय लिया गया कि नर्स ने एंबुलेंस के भीतर जाकर महिला को चैक किया. बाद में महिला को नैरचौक अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया. अचानक पॉजिटिव महिला को क्षेत्रीय अस्पताल में लाने को लेकर नर्सें नाराज हो गई है.




नर्सों ने रखी मांग

नर्सों ने प्रबंधन से यह भी मांग की है कि उन्हें एसओपी उपलब्ध करवाया जाए, ताकि उन्हें पता चल सके कि उन्हें क्षेत्रीय अस्पताल में पॉजिटिव मरीजों को चैक करना है या नहीं. उन्हें क्या क्या डयूटियां करनी है. उनकी मानें तो जब प्रशासन और विभाग ने अलग से कोविड अस्पताल बना रखे हैं, बावजूद यह जानकर कि महिला पॉजिटिव है, उसे क्षेत्रीय अस्पताल में लाना कहीं न कहीं जानकर दूसरे लोगों की जान को खतरे में डालना है. अस्पताल में पॉजिटिव आने वाले मरीजों को यहां से शिफ्ट किया जा रहा है, लेकिन इस मरीज के अस्पताल लाने से अस्पताल प्रबंधन पर कई सवाल खडे हो गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज