हिमाचल: ऑल पार्टी मीटिंग में हुआ फैसला, ट्रक वाले पास नहीं देते, इसलिए झंडी जरूरी: कांग्रेस MLA

हिमाचल में विधायकों की गाड़ियों पर लगेगी झंडी.

हिमाचल में विधायकों की गाड़ियों पर लगेगी झंडी.

MLA Flag Controversy in Himachal: कांग्रेस विधायक सुंदर सिंह ठाकुर ने बताया कि विधायकों झंडी लगाने का निर्णय ऑल पार्टी की बैठक में लिया गया था और सभी विधायकों को स्टिकर दिए गए थे.

  • Share this:

कुल्लू/शिमला. हिमाचल प्रदेश में अफसर शाही की तर्ज पर विधायकों (MLA) की गाड़ियों में विशेष झंडी लगेगी. कैबिनेट मीटिंग में इस मामले को मंजूरी दी गई है. हालांकि, हिमाचल (Himachal Pradesh) में इस फैसले पर सरकार की आलोचना हो रही है. सोशल मीडिया पर भी लोग जमकर गुब्बार निकाल रहे हैं. जहां एक ओर सीएम जयराम ठाकुर ने फैसलों को सही बताया है, वहीं, कांग्रेस के कुल्लू से विधायक सुंदर सिंह ने भी सरकार के फैसले का समर्थन किया है. वहीं, सीपीएम के विधायक ने झंडी (Flag) लगाने से इंकार किया है.

क्या बोले सुंदर सिंह

कांग्रेस विधायक सुंदर सिंह ठाकुर ने बताया कि विधायकों झंडी लगाने का निर्णय ऑल पार्टी की बैठक में लिया गया था और सभी विधायकों को स्टिकर दिए गए थे. उन्होंने कहा कि जिस तरह से डीसी, एसपी, चीफ सैक्रेटरी, अतिरिक्त चीफ सैक्रटरी, जिला परिषद अध्यक्ष को बिशेष फ्लैग दिया जाता है, उसी तरह विधायकों भी विशेष फ्लैग दिया जाएगा. सुंदर सिंह तर्क देते हुए कहते हैं कि विधायकों को कई जगह सफर करना पड़ता है. ऐसे में लंबे रूटस पर ट्रक चालक पास नहीं देते हैं. सरकार के फैसले का हम स्वागत करते है. इस विशेष फ्लैग से सरकार पर कोई आर्थिक बोझ नहीं पड़ेगा. प्रदेश के ऑफिसर शाही को यह विशेष फ्लैग दिया जाता है तो विधायकों को क्यों नहीं?

कुल्लू से कांग्रेस विधायक सुंदर सिंह.

सिंघा ने किया विरोध

माकपा विधायक राकेश सिंघा ने कहा कि आज के समय में आम आवाम और उच्चतम स्तर पर बैठे लोगों में ये गैप बढ़ता जा रहा है, जिसके चलते लोगों में गुस्सा है. सरकार दोहरी नीति अपना रही है, एक को पेन्शन है और दूसरे को नहीं. उन्होंने कहा कि ये फैसला सही है या गलत इससे महत्वपूर्ण ये है कि सरकार ने समय क्या चुना, इस वक्त पूरा फोकस कोविड होना चाहिए. उन्होंने कहा कि मैं इस विवाद में पड़ना नहीं चाहता क्योंकि न मैंने पहले कभी झंडी लगाई है और न लगाऊंगा. गाड़ी भी नहीं बदली, पुरानी ही है. साथ ही कहा कि इस वक्त पूरा ध्यान कोरोना के खिलाफ लड़ाई में लगाएं तो सही होगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज