vidhan sabha election 2017

जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर 12 को कुल्लू में होगा मंथन

ETV Haryana/HP
Updated: December 8, 2017, 7:58 AM IST
जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर 12 को कुल्लू में होगा मंथन
कुल्लू फोटो- ईटीवी
ETV Haryana/HP
Updated: December 8, 2017, 7:58 AM IST
दुनिया भर में लगातार हो रहे जलवायु परिवर्तन से अब हिमाचल प्रदेश के ऊपरी क्षेत्र भी अछूते नहीं हैं.  प्रदेश के शीत मरुस्थल में जलवायु परिवर्तन एवं वहां की संस्कृति, कला और जनजीवन पर पड़ रहे प्रभाव और इसका असर कम करने को लेकर 12 दिसम्बर को कुल्लू में एक संगोष्ठी आयोजित की जाएगी.

इस संगोष्ठी में विभिन्न पर्यावरण विद और विशेषज्ञ भाग लेंगे. 12 दिसंबर 2017 को ग्लेशियर, जंगल और जमीन विषय पर हिमाचल प्रदेश कला, संस्कृति एवं भाषा विभाग कुल्लू और आजाद जनजातिय धरोहर सुरक्षा समिति देवसदन में एक दिवसीय संगोष्ठी आयोजित करेगी.

संगोष्ठी में उपायुक्त कुल्लू यूनुस बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करेंगे. संगोष्ठी के आयोजक श्याम चंद आजाद ने बताया कि हिमाचल प्रदेश के साथ-साथ जनजातिय क्षेत्र लाहुल स्पीति और पांगी में भी जलवायु परिवर्तन का खासा असर देखा गया है.

सेब की बेल्ट कुल्लू-मनाली से खिसक कर अब लाहुल घाटी में पहुंच गई हैं. इस सब जलवायु परिर्वतन के कारण हुआ है. हमें अपने पर्यावरण की रक्षा के लिए क्या-क्या कदम उठाने चाहिए. इस बारे में विचार करने के लिए कुल्लू के देव सदन में संगोष्ठी रखी गई है. इस संगोष्ठी में कुल्लू, लाहुल स्पीति समेत प्रदेश के विभिन्न बुद्धिजीवी और जीवी पंत पर्यावरण संस्थान मौहल के विशेष भाग लेंगे.

(रिपोर्ट : अरुण गर्ग )
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर