'सिड्डू' बना पर्यटकों का पसंदीदा भोजन, देसी घी और चटनी के साथ खाते हैं

अखरोट व पोस्त बनाया जाता है सिड्डू

सिड्डू को अखरोट और पोस्त से तैयार किया जाता है जो खाने में अत्यधिक स्वादिष्ट और पौष्टिक माने जाते हैं. इस डिश को देसी घी, चटनी, आचार के साथ खाया जाता है. सर्दी के मौसम में सिड्डू सेहत के लिए लाभदायक माना जाता है.

  • Share this:
कुल्लू. देवभूमि कुल्लू की लोकल डिश सिड्डू (Local Dish Siddu) अब देश विदेश में अपनी एक अलग पहचान बना चुका है. कुल्लू (Kullu) जिला में लोकल फूड सिड्डू देश-विदेश से आने वाले पर्यटकों व स्थानीय लोगों की पसंदीदा डिश बन गई है. कुल्लू में अंतर्राष्ट्रीय दशहरा उत्सव (Kullu Dussehra) के दौरान प्रदर्शनी मैदान में लगी अस्थाई लोकल मार्केट में सिड्डू की खूब बिक्री हुई. इस बार सिड्डू की बिक्री ने नया रिकॉर्ड बनाया है. स्थानीय खाद्य व्यापारियों की माने तो सिड्डू एक हेल्दी व पौष्टिक भोजन है. इसे कुल्लू जिला के ग्रामीण क्षेत्रों में बनाया जाता था. धीरे धीरे यह डिश शहर के बाजारों में भी मिलनी शुरू हो गई है.

अखरोट व पोस्त से बनता है सिड्डू

सिड्डू को अखरोट और पोस्त से तैयार किया जाता है जो खाने में अत्यधिक स्वादिष्ट और पौष्टिक माने जाते हैं. इस डिश को देसी घी, चटनी, आचार के साथ खाया जाता है. सर्दी के मौसम में सिड्डू सेहत के लिए लाभदायक माना जाता है. दूसरे प्रदेशों में लगने वाले मेलों और त्योहारों के दौरान खाद्य व्यापारी लोकल डिश सिड्डू को बेचने के लिए भी स्टॉल लगाते हैं.

देश विदेश से कुल्लू मनाली आने वाले हजारों पर्यटक सिड्डू का स्वाद चख रहे हैं.


स्थानीय महिला कारोबारी तारा ने बताया कि कुल्लू जिला के ग्रामीण क्षेत्रों में बनने वाला लोकल डिश सिड्डू पर्यटकों की पसंदीदा डिश बन गई है. देश विदेश से कुल्लू मनाली आने वाले हजारों पर्यटक सिड्डू का स्वाद चख रहे हैं. उन्होंने कहा कि दशहरा उत्सव में सिड्डू की जमकर बिक्री हुई. यहां लोकल फूड मार्केट में सैकड़ों लोग सिड्डू का कारोबार कर रहे हैं. कुल्लू मनाली में हजारों लोग इसके व्यापार से जुड़े हैं.



ये भी पढ़ें - मंडी : HRTC बस में सवार युवक के पास से 32.79 ग्राम चिट्टा बरामद

ये भी पढ़ें - चलती बस का खुल गया अगला पहिया, बड़ा हादसा टला