डंपिंग साइट का रास्ता दूसरे दिन भी रोके रहे ग्रामीण, कहा-'यहां कूड़ा डंप नहीं होगा'

प्रदेश के कुल्लू जिला के माहौल की डंपिंग साइट का रास्ता ग्रामीणों ने दूसरे दिन यानि रविवार को भी बंद रखा और जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की.

Tulsi Bharti | News18 Himachal Pradesh
Updated: September 16, 2018, 5:15 PM IST
डंपिंग साइट का रास्ता दूसरे दिन भी रोके रहे ग्रामीण, कहा-'यहां कूड़ा डंप नहीं होगा'
माहौल के निवासी विरोध प्रदर्शन करते हुए
Tulsi Bharti | News18 Himachal Pradesh
Updated: September 16, 2018, 5:15 PM IST
प्रदेश के कुल्लू जिला के माहौल की डंपिंग साइट का रास्ता ग्रामीणों ने दूसरे दिन यानि रविवार को भी बंद रखा और जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की. इस दौरान नगर परिषद कुल्लू और प्रशासन के अधिकारी पुलिस से भरी बस लेकर भी मौके पर रास्ता खुलवाने के लिए पहुंचे लेकिन लोगों के विरोध के आगे प्रशासनिक अधिकारियों की एक नहीं चली. लिहाजा, दूसरे दिन भी कोई समाधान नहीं निकल पाया.

ग्रामीणों ने गांव पहुंची प्रशासन की टीम से दो टूक कहा है कि किसी भी सूरत में इस डंपिंग साइट में कूड़ा डंप नहीं करने दिया जाएगा, जबकि एनजीटी ने भी पिरडी कूड़ा संयंत्र को लेकर 19 जून 2017 को आदेश दिए थे कि कुल्लू प्रशासन 2 सप्ताह के भीतर इस संयंत्र को पिरडी से अलग किसी और जगह स्थानांतरित करे.

हालांकि कुल्लू प्रशासन अपने सुस्त रवैये के चलते एक साल से ज्यादा समय में भी कहीं और जमीन तक ढूंढ नहीं पाया है. यही वजह है कि बल्ह पंचायत के लोगों ने मजबूरन कूड़ा सयंत्र को जाने वाले रास्ते को बंद कर दिया और कूड़े की गाड़ियों को वापिस भेज दिया है. मौके पर अरुण शर्मा, राजीव शर्मा, मोहित, नीरज, अशोक कुमार, खेमराज, टिक्कम ठाकुर, नवीन कुमार, निरत ठाकुर सहित सैंकड़ों लोग कूड़ा सयंत्र के रास्ते में विरोध पर बैठे रहे.

पर्यावरण प्रेमी अभिषेक राय ने कहा कि एनजीटी ने प्रशासन को पिछले वर्ष जून में डंपिंग साइड में कूड़ा ना फैंकने के आदेश दिए थे. इसके साथ एनजीटी ने दूसरी साइड तलाश कर डंपिंग साइड को हटाने के निर्देश दिए थे. उन्होंने कहा कि प्रशासन ने एनजीटी के निर्देशों की अहवेलना की और लगातार डंपिंग साइड में टनों के हिसाब से कचरा फैका जा रहा है और लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर