होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /17 किमी पैदल चलकर 21 लोग किए रेस्क्यू, BRO ने रोहतांग पास बहाल किया

17 किमी पैदल चलकर 21 लोग किए रेस्क्यू, BRO ने रोहतांग पास बहाल किया

लाहौल के छतड़ू से निकाले गए लोग.

लाहौल के छतड़ू से निकाले गए लोग.

मनाली से सरचु तक 223 किमी लेह मनाली हाईवे अब पूरी तरह से बहाल कर दिया गया है. इस मार्ग में फंसी गाड़ियों को लोग अब निका ...अधिक पढ़ें

    हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्पीति जिले से अब भी लोगों को रेस्क्यू करने का सिलसिला जारी है. सोमवार देर शाम को पुलिस और प्रशासन के रेस्क्यू दल ने लाहौल-स्पीति में बर्फ में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए ग्राउंड रेस्क्यू किया. अभियान के आठवें दिन 21 लोगों को छतडू से कोकसर पहुंचाया गया.

    रेस्क्यू टीम की अगुवाई एसडीएम अमर नेगी ने की. उन्हें सेटेलाइट फोन से सूचना मिली थी कि छतडू में कुछ मजदूर और एक शोधकर्ताओं और तेरह अन्य लोग बर्फ में फंसे है.  आपदा प्रबंधन टीम और पुलिस जवानों ने 30 सितंबर को ग्रांफू से छतडू पैदल कूच की.

    17 किलोमीटर बर्फ में चलने के बाद बचाव दल ने 30 सितंबर की रात को छतडू में गुजारी. 1 अक्तूबर को यह टीम इन 21 लोगों को लेकर ग्रांफू निकली और लगातार सात घंटे तक चलने के बाद कोकसर पहुंचे. बाद में सभी लोगों को कोकसर में सरकारी विश्रामगृह में ठहराया गया था. रेस्क्यू टीम में एसडीएम अमर नेगी, जिला आपदा प्रबंधन के समन्वयक प्रशांत, सदस्य अरुण, रोशन समेत पुलिस जवान भी मौजूद रहे. कुल्लू के डीसी युनूस खान ने यह जानकारी दी है.

    रोहतांग पास बहाल
    बर्फबारी के दस दिन बाद बॉर्डर रोड आर्गेनाइजेशन ने मनाली के रोहतांग पास को बहाल कर दिया है. अब मनाली लेह हाईवे सरचु तक वाहनों के लिए खुल गया है. बर्फबारी से लदे 13050 फीट ऊंचा रोहतांग दर्रे को 10 दिन बाद बहाल किया गया है. बीआरओ ने सोमवार शाम को दर्रे को आवाजाही के लिए खोला है. इससे अब रोहतांग व कोकसर के आसपास फंसे वाहनों को निकालना आसान होगा. बता दें कि मनाली से 39 किलोमीटर आगे मनाली-रोहतांग सड़क 250 मीटर धंस गई थी.

    बीआरओ फिलहाल कुछ दिनों तक लाहौल से मनाली के बीच वन-वे ट्रैफिक शुरू करेगा. मंगलवार को लाहौल की तरफ से कुल्लू-मनाली वाहन आएंगे, जबकि तीन अक्तूबर, बुधवार को मनाली से लाहौल के लिए वाहन भेजे जाएंगे. दोपहर दो बजे तक ही एकतरफा आवाजाही होगी.

    तीन दिन तक हुई थी भारी बर्फबारी
    उल्लेखनीय है कि 21 से 24 सितंबर तक रोहतांग और लाहौल स्पीति में भारी बर्फबारी हुई थी. घाटी में सैंकड़ों लोग फंस गए थे. 250 के करीब लोगों को वायुसेना ने रेस्क्यू किया है, रोहतांग टनल से हजारों लोग निकाले गए हैं. अब रेस्क्यू ऑपरेशन सोमवार को पूरी तरह से खत्म हो गया है.

    मनाली से सरचु बहाल
    मनाली से सरचु तक 223 किमी लेह मनाली हाईवे अब पूरी तरह से बहाल कर दिया गया है. इस मार्ग में फंसी गाड़ियों को लोग अब निकाल सकते हैं. बीआरओ ने कड़ी मेहनत के बाद इस मार्ग को बहाल किया है.

    Tags: Manali

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें