Assembly Banner 2021

Kullu News: 8 कमरों वाला ढाई मंजिला लकड़ी का मकान जलकर राख, 3 परिवार के 11 लोग बेघर

कुल्लू में एक मकान में आग लग गई है.

कुल्लू में एक मकान में आग लग गई है.

हिमाचल के कुल्लू (Kullu) जिले में ढाई मंजिला लकड़ी का मकान जलकर राख हो गया है. प्रशासन की तरफ से पीड़ित परिवार को 10 हजार रुपये की फौरी मदद दे दी गई है.

  • Share this:
कुल्लू. हिमाचल के कुल्लू (Kullu) जिला की ख़राहल घाटी के गाहर गांव में अचानक गुरुवार शाम ढाई  मंजिला लकड़ी का मकान जलकर (Fire) राख हो गया है. हादसे में घर के अंदर रखा सारा सामान जलकर खाक हो गया है. मिली जानकारी के मुताबिक, गुरुवार शाम करीब 4 बजे गाहर गांव के लेख राम,हेम राज,केहर,अमर नाथ के लकड़ी के रिहायशी मकान में अचानक आग लग गई. इसके बाद गांव में अफरा-तफरी मच गई. ग्रामीणों ने आग को बुझाने के लिए कड़ी मशक्कत की. घटना की जानकारी अग्निशमन केंद्र कुल्लू को भी दी गई. इसके बाद अग्निशमन विभाग के कर्मचारी फायर टेंडर के साथ मौके पर पहुंच गए.


अढ़ाई मंजिला लकड़ी के मकान में देखते ही देखते घर के अंदर रखे सिलेंडर के फटने से आग ने पूरे मकान को अपनी आगोश में ले लिया. इसके बाद पल भर में मकान राख हो गया. इसमें 8 कमरों बाला लकड़ी का  मकान जलने से 3 परिवार के 11 लोग बेघर हो गए हैं. गाहर पंचायत के प्रधान रोहित वत्स धामी ने बताया कि शाम को अचानक लेख राम ,हेम राज ,केहर ,अमर नाथ के  लकड़ी के मकान में आग लगने से पूरा मकान जलकर राख हुआ है.


परिवार को मिली 10 हजार की फौरी मदद

गाहर पंचायत के प्रधान रोहित वत्स धामी ने कहा कि ग्रामीणों ने इकट्ठे होकर आग को बुझाने के लिए कड़ी मशक्कत की. लेकिन लकड़ी का मकान होने से घर के अंदर रखे फर्नीचर अन्य सामान में आग लगने से पूरे मकान को आग ने अपने आगोश में ले लिया. इसके बाद अग्निशमन विभाग के कर्मचारियों ने भी मौके पर पहुंचकर कड़ी मेहनत की. लेकिन मकान को जलने से नहीं बचा पाए. उन्होंने कहा कि इस आगजनी की घटना में 55 लाख रुपये से अधिक  के नुकसान का आंकलन किया गया है. इस घटना में 3 पीड़ित परिवार के 11 सदस्य बेघर हुए हैं.




ये भी पढ़ें: हाईकोर्ट का फैसला: बद्रीनाथ हाईवे से 2 महीने में हटेगा अतिक्रमणका, पहले होगी दस्तावेज की जांच


उन्होंने कहा कि प्रशासन की तरफ से पीड़ित परिवार को 10 हजार रुपये की फौरी मदद दे दी गई है. पीड़ित परिवारों के रहने खाने-पीने का उचित प्रबंध किया है. उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि पीड़ित परिवार को हर संभव मदद दी जाए जिसमें तिरपाल ,रहने खाने-पीने के बर्तन सहित राशन की व्यवस्था प्रशासन की तरफ से की जाए ताकि पीड़ित परिवार को जीवन यापन करने के लिए मदद मिल सके.
अग्निशमन विभाग के सफर अधिकारी दुर्गा सिंह ने बताया कि गाहर गांव में आगजनी की घटना 55 लाख रुपए का नुकसान हुआ है, जबकि अग्निशमन विभाग ने 10 लाख रुपये की संपत्ति बचाई है.







अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज