कुल्लू: राफ्टिंग और पैराग्लाइडिंग पर दो माह के लिए लगाई गई रोक
Kullu News in Hindi

जिला पर्यटन अधिकारी भाग चंद नेगी ने इसकी पुष्टि की है कि जिला में 2 माह तक पर्यटन एडवेंचर गतिविधियों पर अस्थाई रहेगी और इस दौरान राफ्टिंग व पैराग्लाईडिंग गतिविधियों पर पूर्णतय रोक रहेगी.

  • Share this:
हिमाचल के जिला कुल्लू प्रशासन ने जिला में सहासिक गतिविधियों पर 2 माह की अस्थाई रोक लगा दी है, जो 15 सितंबर तक जारी रहेगी. एडवेंचर रूल्स के मुताबिक, हर साल मानसून सीजन में 15 जुलाई से 15 अगस्त तक मानसून सीजन में भारी बारिश से नदी के जलस्तर में बढ़ौतरी होती है, जिससे इस दौरान कोई भी सहासिक गतिविधियां नहीं करवा पाएंगे.

15 जुलाई से 15 सिंतबर तक पूरी तरह से एडवेंचर गतिविधियों पर रोक लगा दी गई है. लिहाजा, इसके बाद अगर कोई सहासिक गतिविधियों को अंजाम देता पाया गया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी.

जिला पर्यटन अधिकारी भाग चंद नेगी ने इसकी पुष्टि की है कि जिला में 2 माह तक पर्यटन एडवेंचर गतिविधियों पर अस्थाई रहेगी और इस दौरान राफ्टिंग व पैराग्लाईडिंग गतिविधियों पर पूर्णतय रोक रहेगी.



रिवरिंग राफ्टिंग और पैराग्लाइडिंग
गौरतलब है कि कुल्लू के मनाली में सोलंग नाला में पैराग्लाइडिंग होती है. इसके अलावा, कुल्लू में ब्यास किनारे बड़ी संख्या में रिवर राफ्टिंग की जाती है. यहां सैलानी साहसिक गतिविधियों को अंजाम देते हैं. लेकिन अब मौजूदा समय में ब्यास का जल स्तर बढ़ जाता है. ऐसे में हादसे होने का खतरा बना रहता है.

ये भी पढ़ें: सोलन हादसा: अब तक 13 फौजी जवानों समेत 14 की मौत

कलराज मिश्र हिमाचल, आचार्य देवव्रत होंगे गुजरात के राज्यपाल

बेबस मां : एक बेटे के दिल में छेद तो दूसरा किडनी का पेशेंट

घर से भागे प्रेमी जोड़ों को शरण देता है हिमाचल का यह मंदिर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज