लाइव टीवी

कूल्लू में मनाया गया विजय दिवस, वीर शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि

Tulsi Bharti | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 16, 2019, 3:04 PM IST
कूल्लू में मनाया गया विजय दिवस, वीर शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि
कुल्लू में मनाया गया विजय दिवस

कुल्लू (kullu) जिले के ढालपुर में कर्नल पृथी चंद महावीर चक्र सामुदायिक भवन में 48 में विजय दिवस (vijay diwas) धूमधाम के साथ मनाया गया. इस अवसर पर अध्यक्ष टीएस ठाकुर (TS Thakur) ने अध्यक्षता की तिरंगा झंडा फहराकर सलामी दी.

  • Share this:
कुल्लू. हिमाचल प्रदेश के कुल्लू (kullu) जिले के ढालपुर में कर्नल पृथी चंद महावीर चक्र सामुदायिक भवन में 48 में विजय दिवस (vijay diwas) धूमधाम के साथ मनाया गया. इस अवसर पर अध्यक्ष टीएस ठाकुर (TS Thakur) ने अध्यक्षता की तिरंगा झंडा फहराकर सलामी दी. इस मौके पर सैकड़ों पूर्व सैनिकों ने विजय दिवस में भाग लिया, जिसमें 48 वें विजय दिवस पर देश के लिए अपने प्राणों न्यौछाबर करने वाले सभी वीर शहीदों को श्रद्धांजलि (Tribute to martyrs) नमन कर याद किया गया. इस मौके पर ब्रिगेडियर टीएस ठाकुर ने इस कार्यक्रम की अध्यक्षता की, जिसमें ब्रिगेडियर जेसी शर्मा, कर्नल, एसएम सूद,जेसीडब्लू जय चंद काइस्था, मुख्य रूप से शिरकत की. जिसमें विजय दिवस पर मौके पर सभी वीर सैनिकों की याद में 2 मिनट का मौन भी रखा.

कार्यक्रम में पूर्व सैनिकों ने शेयर किए अपने अनुभव

कार्यक्रम में कुल्लू बलाउज पति के सैकड़ों पूर्व सैनिकों ने भाग लेकर विभिन्न समस्याओं को लेकर विचार विमर्श किया. सीमाओं की रक्षा करते हुए सभी पूर्व सैनिकों ने अपने अपने अनुभव शेयर किए, जिसमें टीएस ठाकुर आना सूट सहित अन्य पूर्व सैनिकों ने सेना में कार्य के दौरान कई घटनाओं के बारे में अपने अपने अनुभव शेयर किए. इस कार्यक्रम में पूर्व सैनिकों की समस्या के समाधान के लिए भी समीक्षा की गई, जिसमें पूर्व सैनिकों को हो रही समस्याओं को लेकर विस्तार से पूर्व सैनिकों ने आपस में चर्चा की.

शहीदों के परिवार को सरकार की तरफ से मिलनी चाहिए मदद

पूर्व सैनिक जिला कुल्लू एवं लाहौल स्पीति के अध्यक्ष टीएस ठाकुर ने बताया कि 16 दिसंबर 1971 से विजय दिवस मनाया जा रहा है, जिसमें पूरे देश में विजय दिवस पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि 16 दिसंबर 1971 से पहले कई युद्ध जीत कर अपनी बीरता का परिचय दिया है, जिसमें पाकिस्तान के दो टुकड़े कर बांग्लादेश बनाया. उन्होंने कहा कि भारतवर्ष में जितनी भी लड़ाईयों में सेना ने विजय पाई है उसी के लिए विजय दिवस मनाया जा रहा है.उन्होंने कहा कि सरकार को विजय दिवस को प्रशासनिक तौर पर मनाना चाहिए. उन्होंने कहा कि देश की प्रगति विकास के लिए देश की आर्मी का स्ट्रांग होना जरूरी है, जिससे पूर्व में शहीद हुए सैनिकों के परिवारों को सरकार की तरफ से उचित मदद मिलनी चाहिए.

यह भी पढ़ें- हिमाचल में मौसम: 3 दिन राहत के बाद फिर होगी बर्फबारी, व्हाइट क्रिसमस की उम्मीद

यह भी पढ़ें- हिमाचल में 24 वर्षीय युवक ने शादी का झांसा देकर युवती से किया दुष्कर्म, FIR

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कुल्‍लू से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 16, 2019, 3:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर